गुरमेहर अब सिर्फ शहीद की बेटी नहीं मुद्दा बन गई: गंभीर ने ट्रॉलर्स को लताड़ा

Wednesday, March 1, 2017

नई दिल्ली। 'मैं एबीवीपी से नहीं डरती' का नारा देने वाली करगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौन अब रामजस कॉलेज की आम लड़की नहीं बल्कि मुद्दा बन गई है। भले ही गुरमेहर ने इस विवाद से खुद को अलग कर लिया हो परंतु आग तो भड़क चुकी है और देशभर में फैल भी गई है। आज क्रिकेटर गौतम गंभीर ने गुरमेहर का सपोर्ट किया है, जबकि मजाक उड़ाकर विरोध करने वाले वीरेन्द्र सहवाग एवं रेसलर योगेश्वर दत्त भी नर्म पड़ गए हैं। 

गौतम गंभीर ने वीडियो के साथ एक ट्वीट किया और कहा कि हर किसी को अपनी बात रखने की फ्रीडम है। इस बात को हमें समझ लेना चाहिए और रोज इसे प्रैक्टिस में लाना चाहिए। उधर, वीरेंद्र सहवाग और रेसलर योगेश्वर दत्त ने गुरमेहर की पोस्ट को लेकर अपने पहले के बयान पर सफाई देने की कोशिश की। वीरेंद्र ने कहा वह सिर्फ मजाक था। वह किसी के खिलाफ नहीं था। वहीं, योगेश्वर ने भी कहा कि वे गुरमेहर के खिलाफ नहीं हैं। 

इस पोस्ट के बाद उड़ाया था गुरमेहर का मजाक
ABVP के खिलाफ कैम्पेन चलाते वक्त एक तख्ती वाली पोस्ट में गुरमेहर ने लिखा था- "मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, बल्कि जंग ने मारा है। इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने गुरमेहर की तख्ती वाली पोस्ट का मजाक उड़ाया था। सहवाग ने भी ट्विटर पर तख्ती के साथ अपनी एक फोटो पोस्ट डाली थी। इस पर लिखा था, "दो ट्रिपल सेन्चुरी मैंने नहीं मारी थी, यह मेरे बैट ने लगाई थी। सहवाग की इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया पर एक तरह की बहस छिड़ गई। रेसलर बबिता फोगाट, योगेश्वर दत्त, रणदीप हुड्डा और मधुर भंडारकर समेत कई लोगों ने सहवाग की पोस्ट का सपोर्ट किया।

उसने अपना पिता खोया है, आपको मजाक उड़ाने का हक नहीं 
वहीं, जावेद अख्तर ने इसका विरोध किया और गुरमेहर के सपोर्ट में आ गए। गौतम ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा- किसी को भी मजाक उड़ाने का हक नहीं। गौतम ने ट्विटर पर डाले अपने मैसेज में कहा- "इंडियन आर्मी के लिए मेरे मन में बहुत ज्यादा इज्जत है। उनकी सर्विस देश के लिए होती है और हममें से कोई उन जैसा नहीं है। हालांकि, हाल की घटनाओं से मुझे निराशा हुई है। हम एक आजाद देश में रहते हैं, जहां हर किसी को अपनी राय रखने का हक है। अगर एक लड़की, जिसने अपने पिता को खोया हो, शांति के इरादे से जंग की दहशत को को लेकर पोस्ट करती है तो उसे ऐसा करने का हक है।

ये देशभक्ति दिखाने का मौका नहीं 
उन्होने आगे लिखा- "यह दूसरे लोगों के लिए यह दिखाने का मौका नहीं बनना चाहिए कि वे कितने देशभक्त हैं या उन्हें मिलकर उसका मजाक नहीं उड़ाना चाहिए। हर आम आदमी की तरह उसे अपनी राय रखने का हक है। हर कोई इस बात से सहमत हो या न हो, लेकिन उसका मजाक उड़ाना गलत है।

योगेश्वर ने कहा: मैं गुरमेहर के खिलाफ नहीं हूं
योगेश्वर दत्त ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बुधवार को कहा- "मैं गुरमेहर के खिलाफ नहीं हूं, मैं उसका सम्मान करता हैं, वह एक शहीद की बेटी हैं, मेरे सिर्फ विचार उनसे अलग हैं। अगर पाकिस्तान हमारे सैनिकों को नहीं मारता है तो कौन मारता है? हम पाकिस्तान के साथ एक जंग लड़ रहे हैं, क्या हम नहीं लड़ रहे हैं?

योगेश्वर ने इस तरह किया था ट्रॉल 
योगेश्वर ने मंगलवार को गुरमेहर की पोस्ट का मजाक उड़ाया था। उन्होंने हिटलर, लादेन और हिरण की फोटो पोस्ट की। चिंकारा के फोटो पर लिखा- "भाई ने मुझे नहीं मारा, बुलेट ने मारा। वहीं, ओसामा बिन लादेन के फोटो पर लिखा- मैंने लोगों को नहीं मारा, बम ने मारा। हिटलर के फोटो पर लिखा- मैंने यहूदी को नहीं मारा, गैस ने मारा।"

हरियाणा के मंत्री तो ज्यादा ही गंभीर हो गए 
हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने कहा- "जो लोग गुरमेहर कौर का समर्थन कर रहे हैं, वे पाकिस्तान समर्थक हैं। ऐसे लोगों को देश से बाहर फेंक देना चाहिए। उधर, बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा- "AVBP कौन है जो यह तय करे कि कौन देशद्रोही है और कौन देशभक्त? यह तय करने का अधिकार उनको किसने दिया?"

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं