वो हावर्ड की बातें करते हैं, हम हार्डवर्क करते हैं: मोदी

Wednesday, March 1, 2017

नई दिल्ली। यूपी विधानसभा चुनाव के छठे चरण के लिए चुनावी प्रचार करने के लिए पीएम मोदी आज महराजगंज पहुंचे। उन्होंने अपने भाषण की शुरूआत भारत माता की जय के नारों के साथ की। उन्होंने कहा कि यूपी की जनता 15 साल का गुस्सा निकाल रही है। उन्होंने कहा कि जैसे इंद्रधनुष में सात रंग होते हैं, वैसे ही इस बार यूपी चुनाव में सात चरण हैं।

उन्होंने कहा कि एक तरफ वो हैं जो हावर्ड की बात करते हैं और एक तरफ ये गरीब का बेटा हार्डवर्क से देश की इकॉनमी बदलने में लगा हुआ है। पीएम मोदी ने कहा कि जब मैंने आठ नवंबर को नोटबंदी की, तब विरोधियों ने कहा कि हमें समझ नहीं आ रहा है कि देश तेज गति से आगे बढ़ रहा था लेकिन उसी समय नोटबंदी करके पैर क्यों काट लिए।

उन्होंने कहा कि वो पहले कहते थे कि विकास नहीं हो रहा है। फिर कहने लगे कि नोटबंदी से नौकरी चली गई, बेरोजगारी बढ़ गई। कोई कहता था कि दो फीसद जीडीपी गिर जाएगी लेकिन अब जब आंकड़े आए तो यह सिद्ध हो गया नोटबंदी के बावजूद भारत के विकास में कोई आंच नहीं आई।  

पीएम मोदी ने कहा कि जब जीडीपी के आंकड़े आ गए तो अब ये नेता कह रहे हैं कि ये आंकड़े कहां से आए। मैं कहता हूं कि जो आंकड़े आपकी सरकार में जहां से आते थे, इस बार भी आंकड़े वहीं से आए हैँ।

उन्होंने कहा कि यूपी सरकार की आधिकारिक वेबसाइट में लिखा है कि यूपी में जिंदगी बहुत छोटी होती है। कब मर जाएं कोई भरोसा नहीं। यह अखिलेश सरकार की अधिकृत वेबसाइट पर लिखा है। अब आज ही अखिलेश सरकार बड़े अधिकारियों पर गाज गिराएगी।

पीएम मोदी ने कहा कि एक कांग्रेस के नेता हैं, जो मणिपुर में कहते हैं कि नारियल का जूस लंदन में बेचा जाएगा। मैं लोगों से पूछता हूं कि नारियल का जूस होता है या फिर पानी। नारियल का पानी होता है जूस नहीं और यह सभी को पता है। मैं उनकी लंबी उम्र होने की कामना करता हूं।

उन्होंने कहा कि यह चुनाव गरीबों के हक, भाई-भतीजेवाद से मुक्ति, अपने पराए से भेद मुक्ति का चुनाव है। अखिलेश यादव छह महीने से बोल रहे हैं कि काम बोल रहा है। लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि क्या काम बोल रहा है, या कारनामें बोल रहे हैं। 

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत सरकार बेघरों को घर देना चाहती है। इसके लिए हमनें यूपी सरकार से ऐसे तीस लाख लोगों की सूची मंगाई जिनके पास घर नहीं है। हम उनके घर का सपना पूरा करना चाहते हैं। हमनें यूपी सरकार से चिठ्ठी लिखकर कहा कि वो तीस लाख लोगों की सूची दें जिससे हम पैसा दे सकें लेकिन मैं दुख के साथ कहना चाहूंगा कि हमारी सरकार ने 13 चिट्ठी लिखी लेकिन इसके बावजूद अभी तक यूपी सरकार इसकी सूची नहीं दे सकी है। उन्होंने तीस लाख लोगों की जगह महज 11 हजार लोगों की सूची दी है। ये 11 हजार लोग कौन होंगे, यह सभी जानते हैं।

इससे पहले पार्टी के दर्जन भर नेता इस रैली को लेकर जिले में डेरा डाले हुए थे, जबकि दल के कई प्रमुख पदाधिकारियों ने बीच में आकर तैयारियों की समीक्षा की। इन नेताओं ने सभास्थल की तैयारियों के साथ ही जिले भर में बैठक कर भीड़ के बारे में समीक्षा की। इसके अलावा राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री बी एल संतोष ने जिले में आकर बैठक की। राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रामलाल ने भी सोमवार को बैठक कर तैयारियों की समीक्षा की। प्रदेश प्रभारी ओम माथुर भी मंगलवार की देर शाम जिले में पहुंचे। उन्होंने सभास्थल का निरीक्षण करने के साथ ही पार्टी नेताओं के साथ बैठक की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं