तारक मेहता का निधन, अंतिम संस्कार नहीं होगा

Wednesday, March 1, 2017

अहमदाबाद। देश के प्रसिद्ध नाटककार और पद्मश्री तारक मेहता का आज सुबह 87 साल की उम्र में निधन हो गया। तारक मेहता लंबे समय से बीमार चल रहे थे। बता दें टीवी का पॉपुलर शो 'तारक मेहता का उल्‍टा चश्मा' इन्हीं के कॉलम 'दुन‌िया ने ऊंधा चश्मा' पर अाध्‍ाार‌ित है। 

पॉपुलर शो 'तारक मेहता' के राइटर तारक मेहता का लंबी बीमारी के बाद 88 साल की उम्र में निधन हो गया है। गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ट्विटर पर लिखा बता दें, उनका अंतिम संस्कार नहीं होगा, क्योंकि फैमिली ने देह दान का फैसला किया है।

26 दिसंबर, 1929 को अहमदाबाद में जन्में तारक मेहता ने मुंबई में गुजराती विषय से बीए और एमए किया था। इसके बाद उन्हें 1958 में गुजराती नाटक मंडली कार्यालय में कार्यकारी मंत्री बनाया गया था। 1960 से 1986 तक वे भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के फिल्म डिविजन मुंबई में गेजेटिड अधिकारी भी रहे हैं। 26 जनवरी, 2015 को इन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

गुजराती हास्य लेखक तारक मेहता ने 80 से ज्यादा बुक लिखीं। उनके उपन्यास 'दुनिया ने ऊंधा चश्मा' से प्रेरित होकर टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' सीरियल बना। पिछले 9 सालों से टेलिकास्ट हो रहा यह सीरियल देश ही नहीं, बल्कि विदेशों तक में काफी पसंद किया जाता है।

ये प्रोग्राम सब टीवी पर आता है। ‌ये इस चैनल का सबसे लोकप्रिय शो बन चुका है। शो के किरदार जेठालाल, दया बेन और बाबू जी काफी पॉपुलर हो चुके हैं। इस सीरियल को 9 साल हो चुके हैं। हाल ही में शो के फेमस किरदार टप्पू यानी भव्य गांधी ने आठ साल बाद इसे छोड़ दिया। 

इस शो ने पिछले साल 2 हजार एपीसोड पूरे किए थे। ये देश का सबसे लंबा कॉमेडी शो भी बन चुका है। इस शो में दिलीप जोशी, दिशा वकानी और अमित भट्ट प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं। यह शो गोकुलधाम सोसायटी में रहने वाले छह परिवारों की कहानी है। इसके हर एपीसोड में सामाजिक संदेश भी होता है। शो में सबसे मजेदार किरदार पोपटलाल हैं जो कि एक पत्रकार हैं। वो हमेशा अपने छाते के नीचे रहते हैं। साथ ही अपनी शादी के लिए भी चिंतित हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं