ANUPPUR में नौकरी करने जा रही युवती का 15 दिन तक बंधक बनाकर गैंगरेप

Friday, March 3, 2017

अनूपपुर। चार माह तक एक युवती को बंधक बनाकर दो युवकों ने ज्यादती की। आरोपी किशोरी के रिश्तेदार निकले जिसमें एक रेलवे कर्मचारी और उसका जीजा भी शामिल था। एक मार्च को कोतवाली में युवती की रिपोर्ट दर्ज हुई। इस मामले में पीड़िता के बयान उपरांत दो युवकों सहित दो महिलाओं के विरूद्ध विभिन्न धाराओं के तहत गंभीर अपराध के मामले दर्ज किए गए। आरोपियों में पीड़िता की एक महिला रिश्तेदार और उसका दामाद जो रेलवे में कर्मचारी है सहित एक दंपती भी आरोपी बनाए गए हैं। मामला 8 माह पुराना है, युवती द्वारा एसपी से शिकायत करने पर थाने में मामला दर्ज किया गया।

कोतवाली पुलिस ने बताया कि अनूपपुर के पास एक गांव की 20 वर्षीय युवती जो 15 फरवरी 2016 को एक कंपनी में काम करने के लिए अनूपपुर रेलवे स्टेशन से जाने के लिए गांव से निकली थी। एक आरोपी जो रेलवे में नौकरी करता है के द्वारा युवती को फोन कर कहा कि तुम्हारी बहन की तबियत खराब है उसे देख लेना साथ ही स्कूल की अंकसूची भी मेरे यहां रखी है वह ले लेना फिर काम करने चले जाना। युवती आरोपी के झांसे में आ गई और मनेन्द्रगढ़ थानातांतर्गत एक गांव में चली गई। 

बताया गया कि वहां एक महिला के घर युवती को ले जाया गया और उस घर में 15 दिनों तक बंधक बनाकर रखा गया। जहां आरोपी द्वारा उक्त युवती के साथ ज्यादती की जाती रही। युवती को डरा धमका कर रखा गया इसके बाद उसी गांव के दूसरे स्थान पर एक किराए के मकान में रखा गया वहां आरोपी का जीजा कई दिन आया और युवती के साथ अवैध संबंध बनाए। पीड़िता के मुताबिक यह आरोपी उसकी महिला रिश्तेदार का दामाद है जिसे वह जानती है। बंधक बनाकर रखे जाने के दौरान उक्त आरोपी, एक महिला और दूसरे आरोपी युवक उसे जान से मारने की धमकी देते थे। बताया गया कि उस समय एक आरोपी की पत्नी भी कई बार वहां आई जो सब कुछ जानती थी, आकर मारपीट भी करती।

8 माह बाद मामला हुआ दर्ज
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि तीन माह बाद पिता खोजते हुए उक्त गांव पहुंचे तब दोनों आरोपी युवकों ने झगड़ा कर भगा दिया। पुनः परिवार के लोग कुछ दिन बाद आए और मुझे मुक्त कराया। कोतवाली पुलिस को बताया गया की मामले की शिकायत मनेंद्रगढ़ थाना में करने का प्रयास किया गया लेकिन रिपोर्ट नहीं लिखी गई। अनूपपुर रेलवे में भी शिकायत नहीं लिखी गई। कई माह तक पीड़िता परिवार के साथ आरोपियों के विरूद्ध अनूपपुर में रिपोर्ट लिखाने भटकती रही। किशोरी के साथ यह मामला 15 फरवरी 2016 से 10 जून के बीच घटा था। पुलिस अधीक्षक अनूपपुर में फरियाद करने पर अंततः उक्त किशोरी की रिपोर्ट एक मार्च को कोतवाली पुलिस ने लिखी। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week