भड़काऊ बयानबाजी के आरोप में मौलाना AAMIR RASHADI MADNI के खिलाफ FIR

Friday, March 10, 2017

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के कानुपर शहर में राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के अध्यक्ष आमिर रशदी मदनी के खिलाफ कानपुर में एफआईआर दर्ज की गई है। रशदी पर लखनऊ में हाल में मारे गए संदिग्ध आतंकी सैफुल्ला के परिवार वालों को कथित तौर पर भड़काने का आरोप है। उत्तर प्रदेश के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) दलजीत चौधरी ने कानपुर में एसएसपी को रशदी के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश दिया था। इस बीच सैफुल्ला के पिता सरताज ने कहा है कि आमिर रशदी उनके बारे में जो कह रहे हैं वो झूठ है। सरताज के मुताबिक अगर आमिर रशदी उनके सामने बोलते तो वहीं उन्हें चुप करा देते। सरताज ने कहा कि वो पूरी तरह डट कर देश के साथ खड़े हैं।

इससे पहले आमिर रशदी ने कानपुर में सैफुल्ला के परिवार वालों से मिलने के बाद सैफुल्ला के एनकाउंटर को फर्जी बताया था। उन्होंने सैफुल्ला के मारे जाने पर कई तरह के सवाल उठाते हुए कहा कि इस मामले में वे हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे। आमिर रशदी ने सैफुल्ला के परिवार के अलावा आतिफ के घरवालों से भी बात की। आतिफ को भोपाल में पकड़ा गया था। आतिफ के मोहल्ले में लोगों को इकट्ठा करने के बाद आमिर रशदी ने कहा कि सैफुल्ला का एनकाउंटर पूरी तरह फर्जी है। 

आमिर रशदी ने जहां उत्तर प्रदेश के डीजीपी के कुछ नहीं बोलने पर सवाल उठाया, वहीं एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) पर भी बार-बार बयान बदलने का आरोप लगाया। आमिर रशदी ने उन लड़कों से भी मुलाकात की, जिनसे एटीएस ने पूछताछ की थी। उन्होंने कहा कि सैफुल्ला के एनकाउंटर में शामिल अधिकारियों का नार्को टेस्ट कराया जाए। आमिर रशदी ने सवाल उठाया कि सैफुल्ला कमरे के अंदर था और बाहर पुलिस थी, तो पुलिस को कैसे उसके पिता का नंबर मिल गया। 

आमिर रशदी के मुताबिक, एक अधिकारी सैफुल्ला के पिता को फोन कर कह रहा था कि सैफुल्ला से कहो कि सरेंडर कर दे। आमिर रशदी ने आरोप लगाया कि इसका मतलब सैफुल्ला पहले से ही पुलिस की हिरासत में था। आमिर रशदी ने सैफुल्ला के एनकाउंटर को 'सरकारी आतंकवाद' तक करार दे डाला। आमिर रशदी ने इस घटना के लिए एक ही सांस में आरएसएस और यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आरोपों के कटघरे में खड़ा कर डाला। आमिर रशदी ने आरोप लगाया कि आखिरी चरण में वोटों के ध्रुवीकरण के लिए आरएसएस और अखिलेश यादव के बीच साठगांठ थी और तो और आमिर रशदी ने बरसों पहले हुए एक एनकाउंटर के लिए मुलायम सिंह को भी जिम्मेदार ठहरा डाला।

आमिर रशदी ने कहा कि आतिफ के घर में तीन दिन तक कानपुर के एसपी सिटी किस कानून के तहत पूछताछ कर रहे थे। उन्होंने धमकी भरे लहजे में कहा कि अगर एसपी सिटी को तुरंत निलंबित नहीं किया गया, तो वो उत्तर प्रदेश को बंद करा देंगे। आमिर रशदी ने ये भी कहा कि सैफुल्ला के पिता बयान बदलना चाहते हैं, लेकिन बहुत दबाव होने की वजह से डरे हुए हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं