16 वर्षीय मुस्लिम सिंगर ने कहा: मैं फतवों से नहीं डरती

Wednesday, March 15, 2017

गुवाहाटी। पूर्वोत्तर राज्य असम की 16 वर्षीय युवा गायिका नाहिद आफरीन ने अपने खिलाफ जारी हुए 46 फतवों को एक करारा जवाब दिया है। उसने कहा कि मैं फतवों से नहीं डरती। मंच से अपनी प्रस्तुति देती रहूंगी और मरते दम तक देती रहूंगी। मौलवियों ने इसे शरई कानून के खिलाफ बताया है। बहादुर आफरीन ने इस धता बताते हुए कहा कि वह मरते दम तक गाती रहेंगी। असम सरकार ने उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का आश्वासन दिया है।

असम के 46 संगठनों/मौलवियों ने आफरीन के खिलाफ फतवा जारी किया है। मध्य असम के लंका और होजाई इलाकों में इन संगठनों की ओर से पर्चे भी बांटे गए हैं, जिन पर इनके हस्ताक्षर हैं। इसमें लिखा है, 'जादू, नृत्य, नाटक, थियेटर आदि शरई कानून के तहत गलत हैं। संगीत समारोह जैसे कार्यक्रम भी शरई के खिलाफ हैं।

इससे भावी पीढ़ी भ्रष्ट हो जाएगी।' नाहिद आफरीन 25 मार्च को उदाली में एक स्टेज शो करने वाली हैं। इन संगठनों ने फतवा जारी कर उन्हें इससे दूर रहने को कहा है। वर्ष 2015 में इंडियन आयडल जूनियर की उपविजेता रही आफरीन ने वर्ष 2016 में 'अकीरा' फिल्म के जरिये बॉलीवुड में कदम रखा था। इसमें उन्होंने सोनाक्षी सिन्हा के लिए गीत गाए थे।

इससे बेखौफ आफरीन ने कहा कि वह फतवों से नहीं डरती हैं। उन्होंने कहा, 'शुरुआत में मैं यह जानकर अंदर से टूट गई थी, लेकिन कई मुस्लिम गायकों ने मुझे संगीत न छोड़ने की प्रेरणा दी। मैं गायकी नहीं छोड़ने वाली। असम की जनता और विभिन्न संगठनों की ओर से मुझे सैकड़ों फोन कॉल्स और संदेश मिले हैं, जिनमें मेरा समर्थन किया गया है।

मुख्यमंत्री ने मुझसे बात की और कहा कि इससे डरना नहीं है। उन्होंने उदाली में पूरी सुरक्षा मुहैया कराने की भी बात कही है।' असम के कई संगठन और लोग आफरीन के समर्थन में आ गए हैं। इन्होंने कहा कि राज्य की जनता उन्हें सुरक्षा देगी। वहीं, पुलिस ने भी इस बात की जांच शुरू कर दी है कि ये फतवे आफरीन द्वारा हाल में आतंकियों खासकर प्रतिबंधित इस्लामिक स्टेट (आइएस) के खिलाफ गाए गए गीत की प्रतिक्रिया में तो जारी नहीं किए गए हैं।

समर्थन में नेता और अभिनेता
'मैं पूरी तरह से आफरीन के साथ हूं। उन्हें गाने का पूरा अधिकार है। हमें उनकी उपलब्धियों पर गर्व है।'
रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय कानून मंत्री
.................
'संगीतकारों को संगीत से रोकने वाले लोग अध्यात्म के बारे में कुछ नहीं समझते हैं। डराने-धमकाने वाले लोगों को शर्म आनी चाहिए।'
विशाल डडलानी, म्यूजिक कंपोजर
.................
'बहादुर नाहिद आफरीन। ऐसी घृणा भरी धमकियों को नजरअंदाज कर गाती रहो। तुम्हारी आवाज ऊपर वाले की नेमत है।'
शोभा डे, लेखिका
.................
'पुरस्कार वापस करने वाले निपट मूर्खों के लिए एक बार फिर से आवाज उठी है कि वे नाहिद आफरीन के पक्ष में खड़े हों।'
परेश रावल, भाजपा सांसद व अभिनेता
.................
मौलवियों ने इंडियन आयडल जूनियर की गायिका नाहिद आफरीन के खिलाफ फतवा जारी किया है। बॉलीवुड चुप है। उदारवादी भी चुप हैं।'
रविंद्र जडेजा, क्रिकेटर

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week