MODI पद्मासन लगा नहीं पाते, YOGA क्या करेंगे: राहुल गांधी

Wednesday, January 11, 2017

;
नई दिल्ली। कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में जन वेदना सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं। इस सम्मेलन की शुरुआत हो चुकी है। राहुल गांधी इसकी अध्यक्षता कर रहे हैं। मोदी सरकार की विभिन्न योजनाओं की आलोचना करते हुए राहुल ने कहा कि अब कांग्रेस 2019 में अच्छे दिन लेकर आएगी। राहुल ने मोदी के योगा पर तंज कसते हुए कहा कि 'जो पद्मासन नहीं लगा पाते, वो योगा नहीं करते।' कल ही पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा था कि मां से मिलने के लिए मैने योगा का नियम तोड़ दिया। 

राहुल ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया। राहुल ने कहा कि नोटबंदी पीएम का निजी फैसला था। पीएम ने आरबीआई का मजाक उड़ाया है, उन्होंने आरबीआई गवर्नर की सलाह को नजरअंदाज किया गया, लेकिन हमने नोटबंदी पर जनता की आवाज उठाई है।

उन्होंने कहा कि, 'नोटबंदी की किसी भी अर्थशास्त्री ने तारीफ नहीं की है। नोटबंदी के बाद पीएम बाबा रामदेव जैसे होम मेड इकोनॉमिस्ट के पीछे छिप रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि, 'बीजेपी ने संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया है। हमें 70 साल का हिसाब देने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस ने देश के लिए कुर्बानी दी है।

झाड़ू पकड़ाया और कहा कि हिंदुस्तान की सफाई करो
राहुल ने हमला जारी रखते हुए कहा कि 'ढाई साल पहले मोदी जी आए। सबको झाड़ू पकड़ाया और कहा कि हिंदुस्तान की सफाई करो। फैशन था क्या, तीन चार-दिन में बंद हो गया।

पद्मासन लगा नहीं पाते, योगा की बात करते हैं
कुछ दिन इंडिया गेट पर योगा किया। पीएम पद्मासन भी नहीं लगा पाए। जो पद्मासन नहीं करता वो योग नहीं करता। राहुल ने कहा कि, 'आरएसएस और बीजेपी के लोग यह मानते हैं कि डेमोक्रेसी में किसी के विचार मायने नहीं रखते, वो कहते हैं, तुम लोग कौन हो? अब देश को सिर्फ नरेंद्र मोदी और मोहन भागवत चलाएंगे।

राहुल को बीजेपी का करारा जवाब
हालांकि, बीजेपी ने राहुल पर जवाबी हमला करते हुए उन्हें पार्ट टाइम राजनेता करार दिया है। बीजेपी ने कहा कि राहुल तुरंत ही छुट्टियों से लौटे हैं। अगर उन्हें जनता की परवाह होती तो वह छुट्टियों पर नहीं जाते। हालांकि सोशल मीडिया पर भाजपा से तत्काल सवाल पूछा गया कि नोटबंदी करके मोदी विदेश चले गए थे, तो क्या समझें। 
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week