स्टूडेंट्स से ठगी करके SMART STUDY FORUM फरार - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

स्टूडेंट्स से ठगी करके SMART STUDY FORUM फरार

Thursday, November 24, 2016

;
सिवनी। छात्र-छात्राओं का सामान्य ज्ञान बढ़ाने और किसी भी चीज को लंबे समय तक याद रखने की क्षमता बढ़ाने का लालच देकर स्मार्ट स्टडी फोरम संस्था छात्र-छात्राओं के अभिभावक से मोटी रकम लेकर फरार हो गई। मुख्यालय के करीब 61 छात्र-छात्राओं से प्रति छात्र 3100 रूपये की राशि इस संस्था के सदस्यों ने ली।

जानकारी के अनुसार, दो दिन सेमिनार आयोजित करने के बाद संस्था के सदस्य करीब दो लाख रुपये एकत्र कर फरार हो गए। बुधवार रात करीब 7 बजे छात्र-छात्राओं व उनके पालकों ने कोतवाली में संस्था के विस्र्द्ध शिकायत दर्ज कराई है। पिछले कुछ दिनों से शहर में अखबारों के बीच स्मार्ट स्टडी संस्था का पेंपलेट घर-घर भेजा गया। इस पंपलेट में बच्चों का सामान्य ज्ञान और याद रखने की क्षमता बढ़ाने का सेमिनार आयोजित होने की जानकारी दी गई। 

रुपये लेकर चंपत हुई युवती
स्थानीय बाहुबलि लॉन में पांच दिनों का सेमिनार करने वाली स्मार्ट स्टडी फोरम संस्था नागपुर की बताई जा रही है। इस सेमीनार में शामिल जान्हवी शुक्ला, तनुश्री राय, आकाश शुक्ला ने बताया कि मंगलवार की शाम सेमीनार के दौरान ही संस्था की मैडम अनुपमा खांडेकर वसूल किए गए रूपये लेकर नागपुर चली गई। इसके बाद शाम 6 से 9 बजे तक इस सेमिनार में संस्था के केवल एक व्यक्ति ने पढ़ना शुरू किया। जब सेमिनार में उपस्थित किसी भी छात्र-छात्राओं को उस व्यक्ति की बात समझ नहीं आई तो कुछ बच्चों ने व्यक्ति से सवाल पूछना शुरू किए जिसका जवाब वह व्यक्ति नहीं दे पाया इससे बच्चों ने हंगामा शुरू कर दिया।

वहीं कुछ बच्चों ने मोबाइल से अपने पालकों को सेमिनार के नाम पर हो रही खानापूर्ति की जानकारी दी। जानकारी पर जब पालक मौके पर पहुंचे तो उन्होंने संस्था के व्यक्ति की जमकर खबर ली। बाद में छात्रों के पालकों से कहा गया कि उनसे लिए गए रूपये वापस कर दिए जाएंगे,  तब पालक शांत हुए। 

गायब हुए संस्था के सदस्य 
अपने रूपये वापस लेने बुधवार शाम 6 बजे बाहुबलि लॉन पहुंचे पालकों को लॉन में संस्था का कोई भी सदस्य नहीं मिला। पालक शशि शुक्ला, पूजा पांडे, अनिल सनोड़िया, सीता गुप्ता, शैलेष जैन, अजय गुप्ता सहित अन्य पालकों ने बताया कि काफी देर इंतेजार करने के बाद जब संस्था का कोई भी सदस्य नहीं मिला तो उन्होने थाने में जाकर शिकायत दी है। 

संस्था के दो मोबाइल नंबर नहीं लग रहे हैं जबकि एक नंबर पर संपर्क होने के बाद फोन उठाने वाले संस्था के कर्मचारी ने पालकों से अपना अपना एकाउंट नबर देने की बात कही। इस एकाउंट नंबर में ली गई राशि वापस डालने की बात भी संस्था के कर्मचारी ने कही है। फिर भी उन्हें विश्वास नहीं हो रहा है। इस मामले में एसडीओपी उमेश द्विवेदी ने बताया कि पालकों से इस मामले की जानकारी ली जा रही है। पूरी जांच होने के बाद मामला दर्ज किया जाएगा।
;

No comments:

Popular News This Week