मुस्लिम कैदी ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं: दिग्विजय सिंह

Tuesday, November 1, 2016

;
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर सिमी आतंकियों के जेल से फरार होने और उनके एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मुस्लिम कैदी ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं। भोपाल जेल ब्रेक को लेकर सबसे पहले सवाल उठाने वाले दिग्विजय सिंह ने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एनआईए से जांच करने की मांग की है. दिग्विजय ने कहा कि इस बात की भी जांच होना चाहिए कि सिर्फ मुस्लिम कैदी ही क्यों जेल से भागते हैं और कोई हिंदू नहीं।

दिग्विजय सिंह ने कहा, 'मुझे ना सिमी से प्रेम है ना बजरंग दल से। मैं उन सभी के खिलाफ हूं जो धर्म के नाम उन्माद फैलाकर राजनीति करते हैं। इसमें औवेसी भी शामिल हैं। दिग्विजय ने ट्वीट के जरिए अदालत की निगरानी में मामले की जांच करवाने की भी मांग की। यदि NIA से ही जॉच करवाना है तो जॉंच अदालत की मॉनिट्रिंग में होना चाहिये और जेल की कार्य प्रणाली की न्यायिक जॉंच होना चाहिये।

शिवराज ने कहा: लानत है
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर सवाल उठाने वाले नेताओं पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग इस एनकाउंटर पर सवाल खड़े कर रहे हैं उन्हें मारे गए पुलिसकर्मियों के लिए भी दो शब्द बोलने चाहिए। सिमी आतंकियों के हाथों मारे गए हेड कांस्टेबल रमाशंकर यादव के अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे सीएम शिवराज ने विपक्षी पार्टियों पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं पर घटिया से राजनीति से बाज आया जाना चाहिए. मारे गए जवान पर दो शब्द भी नहीं बोले गए, ऐसी राजनीति और नेताओं पर लानत हैं। शिवराज ने कहा, 'मेरे मन में तकलीफ है. लेकिन पता नहीं राजनीति कैसी हो गई है. हमारे देश के कुछ नेताओं को शहीदों की शहादत दिखाई नहीं देती है। 

गृह मंत्री बोले- किसी जांच की जरूरत नहीं
वहीं सूबे के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि जब भी कोई आतंकवादी किसी एनकाउंटर में मारा जाता है तो देश में कुछ लोग खासकर कांग्रेसी शक करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि किसी जांच की कोई जरूरत नहीं है, पुलिस ने सारी जानकारी मुहैया करा ही दी है. एनआईए सिर्फ जेल से भागे संदिग्ध आतंकियों के कनेक्शन की जांच करेगी।
;

No comments:

Popular News This Week