कालेधन पर कार्यवाही की मांग करने वाले हाय तौबा कर रहे हैं: अमित शाह - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

कालेधन पर कार्यवाही की मांग करने वाले हाय तौबा कर रहे हैं: अमित शाह

Friday, November 11, 2016

;
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज, शुक्रवार को भाजपा के केन्द्रीय मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट को बैन करने के केंद्र सरकार के फैसले की सराहना करते हुए इसका विरोध करने वाली विपक्षी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा।

कालेधन के खिलाफ लड़ाई महत्वपूर्ण मोड़ पर 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 500 और 1000 के पुराने नोट को 8 तारीख की आधी रात से बैन करने के इस एक फैसले से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने काले धन के खिलाफ केंद्र सरकार की लड़ाई को एक महत्त्वपूर्ण मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि इस फैसले से आतंकी गतिविधियों से जुड़े हुए कई संगठन और आतंकवादियों को करारा झटका लगा है, नकली नोट के कारोबार और देशविरोधी प्रवृत्ति में संलिप्त रहने वाले लोगों और संस्थानों को भी बहुत बड़ा झटका लगा है। उन्होंने कहा कि नशे के कारोबार और हवाला के माध्यम से देश के अर्थतंत्र को खोखला करने वाले सारे लोगों को इससे एक ऐसा आघात लगा है जिससे उबरने में उन्हें काफी समय लगेगा। 

जनता और करदाताओं ने स्वागत किया है 
उन्होंने कहा कि दुनिया मानती है कि मोदी सरकार का यह फैसला काला धन रखने वाले, उसको बढ़ावा देने वाले, आतंकवादियों, नक्सलवादियों, हवाला ऑपरेटर्स, नशे का कारोबार करने वालों इत्यादि के लिए तकलीफदेह निर्णय है। उन्होंने कहा कि इसके ठीक विपरीत सभी देशभक्त लोगों ने, देश की जनता ने और प्रमाणिक करदाताओं ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है।

मिडिल क्लास को कोई परेशानी नहीं 
श्री शाह ने कहा कि बड़ी सोच-समझ कर और एडमिनिस्ट्रेटिव एक्सरसाइज करने के बाद भारत सरकार ने यह फैसला लिया है, छोटे व्यापारियों, गृहणियों, किसानों, मजदूर एवं गरीबों - सबके हितों की रक्षा केंद्र की भाजपा सरकार करेगी। उन्होंने कहा कि ढाई लाख से कम जिनके पास भी 500 और 1000 के नोट हैं, उनको अपने बैंक अकाउंट में डालने में कोई समस्या नहीं है और ना ही इस प्रक्रिया में किसी को भी किसी प्रकार की पूछताछ का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा, “मैं मानता हूँ कि जो मध्यम, निम्न मध्यम वर्ग के लोग हैं, गरीब हैं, छोटे व्यापारी हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। 31 दिसंबर तक इन नोटों को सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों में स्वीकार किया जाएगा, इसलिए किसी को भी पैनिक करने की कोई जरूरत नहीं है।” 

बैंक कर्मचारियोें का धन्यवाद 
उन्होंने कहा कि दो दिनों से जिस तरह से बैंक और बैंक के कर्मचारी जनता का सहयोग कर रहे हैं, मैं भारतीय जनता पार्टी की ओर से उनका ह्रदय से अभिनंदन करता हूँ। उन्होंने कहा कि ईमानदार लोगों को डरने की कोई जरूरत नहीं है, जिनके पास काला धन है, उन्हीं को नुकसान होगा हालांकि कुछ राजनीतिक पार्टियां जरूर गरीब हो गई हैं। उन्होंने यह स्पष्ट करते हुए कहा कि यह कैश ट्रांजेक्शन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं है बल्कि यह टैक्स पे किये बिना कैश के खिलाफ कार्रवाई है।

लोग इस निर्णय का स्वागत कर रहे हैं 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एक भ्रष्टाचार मुक्त भारत और स्वच्छ जीवन शैली बनाने की मुहिम जो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने शुरू की है, मैं लोगों से अपील करता हूँ कि वे इस मुहिम से जुड़ें, इसका समर्थन करें और इसे गति दें। उन्होंने कहा कि पूरे देश से, जहां-जहां से भी फीडबैक मिल रहा है, लोग उसका स्वागत कर रहे हैं और भारत सरकार ने भी जहां-जहां कमियाँ है, उन कमियों में तत्काल सुधार के लिए टीम बनाई है और वह टीम उन कमियों का त्वरित समाधान कर रही है। उन्होंने कहा कि तीन दिन तक देश भर के सभी टोल टैक्स को माफ़ करके सरकार ने लोगों को राहत दी है, इसी तरह रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, सरकारी अस्पताल तथा सभी सरकारी भुगतानों में पुराने नोटों को स्वीकार किया गया है ताकि लोगों को ज्यादा परेशानी न उठाना पड़े। उन्होंने कहा कि एक अच्छी सुचारु व्यवस्था के माध्यम से अर्थतंत्र में इस परिवर्तन को स्वीकृत कराने का संवेदनशील प्रयास केंद्र सरकार द्वारा किया गया है। 

कुछ लोगों को तकलीफ हुई 
उन्होंने कहा, “मैं देश की जनता से अपील करने आया हूँ कि इस निर्णय से देश के अर्थतंत्र को बहुत बड़ा फायदा हो, इसके लिए एक कठोर कदम भारत सरकार ने उठाया है, हो सकता है कि लोगों को कुछ तकलीफें उठानी पड़े, हो सकता है कि एटीम के सामने लंबी लाइन लगी हो, हो सकता है कि लोगों को एटीएम से नोट निकालने में तकलीफ हुई हो, मैं इन सबके प्रति संवेदना रखते हुए कहना चाहता हूँ कि देश की जनता भारत सरकार के इस साहसिक कदम को अपना समर्थन दें।” उन्होंने कहा कि देश भर से फर्जी नोट और काले धन को निकालना बहुत जरूरी है क्योंकि यह हमारे अर्थतंत्र के लिए नासूर है, इसे ख़त्म किये बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता।
;

No comments:

Popular News This Week