नोटबंदी बेअसर काली कमाई जारी है, पटवारी गिरफ्तार

Saturday, November 12, 2016

;
भोपाल। काली कमाई पर रोक लगाने के बहाने की गई नोटबंदी का काले कारोबार पर कोई असर नहीं पड़ा है। निचले स्तर तक चलने वाली रिश्वतखोरी बदस्तूर जारी है। रीवा की लोकायुक्त पुलिस ने सिंगरौली में एक पटवारी को रिश्वत में लिए गए 100-100 रुपए 20 नोटों के साथ गिरफ्तार किया है। अब से पहले तक रिश्वत में अधिकारी केवल बड़े नोट ही मांगते थे परंतु अब वो छोटे नोटों की डिमांड करने लगे हैं। नोटबंदी के बाद कालीकमाई पकड़े जाने का यह मप्र का पहला मामला है। 

लोकायुक्त पुलिस के अधिकारी वीवी तिवारी ने बताया कि खुटार गांव में रहने वाले आत्माराम शाह की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई। आत्माराम ने अपनी शिकायत में बताया था कि खसरे में बदलाव करने के एवज में पटवारी भुवनेश्वर जैसवाल पांच हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है।

वह चार महीने पहले रिश्वत की पहली किस्त के रूप में तीन हजार रुपए दे चुका था। इसके बावजूद पटवारी ने काम नहीं किया तो आत्माराम ने रीवा लोकायुक्त पुलिस को शिकायत कर दी।

शिकायत के आधार पर लोकायुक्त पुलिस की टीम ने जाल बिछाया। इसी दौरान देश में अचानक 500 और 1000 रुपए के नोट बंद हो गए तो पटवारी जैसवाल ने कहा कि वह सिर्फ केवल 100-100 के नोट में ही रिश्वत स्वीकार करेगा। इसके बाद 100-100 के नोट का इंतजाम किया गया, फिर पटवारी को 2000 हजार रुपए की रिश्वत के साथ रंगे हाथों धर दबोचा गया। ( पढ़ते रहिए bhopal samachar हमें ट्विटर और फ़ेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)
;

No comments:

Popular News This Week