पाकिस्तान ने कश्मीर में दहशत फैलाने बाजवा को बनाया आर्मी चीफ

Saturday, November 26, 2016

पाकिस्तान ने लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा को अपना नया आर्मी चीफ चुना है. जिओ न्यूज के मुताबिक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आर्मी चीफ के तौर पर कमर बाजवा के नाम पर मुहर लगाई है. वर्तमान सेनाध्‍यक्ष राहील शरीफ 29 नवंबर को रिटायर होंगे. बाजवा पाकिस्तान के 16वें आर्मी चीफ हैं. इसके अलावा लेफ्टिनेंट जनरल महमूद हयात को ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है.

आइए जानें बाजवा क्यों बनाए गए आर्मी चीफ
1. कमर जावेद बाजवा ने पाकिस्तान की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण कॉर्प-10 का भी नेतृत्व किया है. यह कॉर्प पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में तैनात है.
2. बाजवा को कश्मीर मसले पर लंबा अनुभव है और उनके चयन का भी यही आधार माना जा रहा है. 
3. कमर बाजवा को कश्मीर और उत्तरी इलाकों में लंबे समय तक बतौर सेनाधिकारी सेवा दी है, इसलिए उन्हें इन इलाकों की खासी समझ है.
4. कांगों में पीस मिशन के दौरान भी ब्रिगेडियर रहते हुए बाजवा ने अपनी सेवाएं दीं. पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे पर कमर बाजवा की मदद लेना चाहेगा.
5. कमर बाजवा को पाकिस्तान के उत्तरी इलाकों की भी खासी समझ है, क्योंकि वे गिलगित और बालिस्टान में फोर्स कमांडर की पोस्ट पर भी रह चुके हैं. यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि पाकिस्तान ब्लूचिस्तान में विद्राहियों से संघर्ष कर रहा है. ऐसे में बाजवा के सहारे वहां पकड़ मजबूत करने की कोशिश करेगा. कमर बाजवा बलोच रेजिमेंट में भी सेना अधिकारी रह चुके हैं. से ताल्लुक रखने वाले बाजवा गिलगित और बालिस्टान में फोर्स कमांडर की पोस्ट पर भी रह चुके हैं.

बाजवा ने इन चार सेना अधिकारियों को पीछे छोड़ा
जनरल राहील शरीफ की जगह लेने के लिए चार जनरल के नाम पर विचार हो रहा था. इनमें सबसे वरिष्ठ चीफ ऑफ जनरल स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल जुबैर हयात के अलावा मुल्तान कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल इशफाक नदीम अहमद, बहावलपुर कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जावेद इकबाल रामडे और प्रशिक्षण तथा आकलन के महानिरीक्षक लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा शामिल थे. चारों 1980 बैच के हैं और बलूच रेजीमेंट से ताल्लुक़ रखते थे. हालांकि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा को आर्मी चीफ बनाकर उनपर भरोसा जताया है.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week