परीक्षा नजदीक आ गई, स्टूडेंट्स को किताबें ही नहीं मिलीं

Monday, November 28, 2016

नीमच। मध्य प्रदेश को स्वर्णिम मध्य प्रदेश बनाने हेतु नित नई योजनाओ को अमल में लाने हेतु प्रयास किया जा रहा है। वही शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान न देकर हजारो छात्र छत्राओ के भविष्य के साथ प्रदेश सहित नीमच जिले में खेल खेला जा रहा है। 

शासन ने इसी वर्ष 2016-2017 में बी.एस.सी./बी.एड. व बी.ए./बी.एड. का चार वर्षीय पाठ्यक्रम प्रारम्भ किया है । जिसमें एडमिशन हेतु शासन द्वारा चयन परीक्षा विगत माह जून 2016 में ऑनलाइन आयोजित कर , अगस्त 2016 में चयनित किये गए,  छात्र छात्राओ को प्रायवेट कॉलेज सितम्बर 2016 में आवंटित किये है। जिसमे चयनित छात्र छात्राओ द्वारा 20 हजार रूपये चेक के माध्यम से फ़ीस भी जमा करवा चुके है पर तीन माह पूर्ण होने के उपरांत भी छात्र छात्राओ को पढाई करने हेतु पाठ्यक्रम आज तक उपलब्ध नही किया गया है। 

जो गम्भीर चिंता का विषय है। अपने भविष्य के प्रति चिंतित छात्र छात्राओ द्वारा नित्य सम्बंधित प्रायवेट कोलेजो से सम्पर्क किया जा रहा है पर संतुष्ठीप्रद जवाब न मिलने सहित कोई आशा की किरण दिखाई नही पड रही है। इस विकराल समस्या के चलते परेशान छात्र छात्राओ द्वारा 181 पर भी शिकायत की है पर आज दिवस तक कोई समाधान नही निकला है।शैक्षणिक वर्ष भी अंतिम पड़ाव की और अग्रसर है वही परीक्षाये भी नजदीक आ रही है ऐसी विकट स्थिति मे ये छात्र छात्राएं बिना किसी पाठ्यक्रम के कैसे परीक्षा में शामिल होकर, परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे।

जिला कलेक्टर , जिला शिक्षा अधिकारी व सम्बंधित विभाग इन छात्र छात्राओ की पाठ्यक्रम की गम्भीर समस्या पर ध्यान केंद्रित कर इन्हें उचित न्याय प्रदान करे।

इनका कहना
हमने बड़े उस्ताह से बच्चों का एडमिशन इस कोर्स के लिए करवाया है, लेकिन अभी तक छात्र छात्राओ को पाठ्यक्रम प्रदान नही किया गया है जो चिंता का विषय है।
बालमुकुंद बैरागी शिक्षक
(पालक)
लसुडि हाड़ा

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं