अब भीगी बिल्ली बन गए हैं सेंट्रल जेल में बचे आतंकवादी

Saturday, November 5, 2016

;
भोपाल। कोर्ट पेशी के दौरान देशरिोधी नारे, जेल के अंदर गाली गलौच, हंगामा और दहशत जमाने वाले सिमी कार्यकर्ता जिन्हे आतंकवादी भी कहा जा रहा है, भोपाल एनकांउटर के बाद भीगी बिल्ली बन गए हैं। फिलहाल जेल में 21 शेष हैं जबकि 8 मारे जा चुके हैं। 

पहले इन आतंकियों से जेल अफसर से लेकर प्रहरियों तक घबराते थे। अधिकारी को सामने ही नहीं जाते थे। जो मांगते थे, दे दिया जाता था परंतु अब हालात पलट गए हैं। पहले ये जेल में खुलेआम घूमा करते थे, अब इन्हें बैरक से बाहर आने ही नहीं दिया जा रहा। सूत्रों की माने तो जेल अफसरों ने आतंकियों की शिफ्टिग भी अलग-अलग बैरक में कर दी है। 

आतंकियों से दूसरे कैदी भी थे परेशान
सिमी आतंकियों की दहशत जेलकर्मियों से लेकर जेल में बंद दूसरे बंदियों तक में रहती थी। जब भी कोई सिमी आतंकी उनके सामने से गुजरता था, तो दूसरे कैदी रास्ता बदल लेते थे। एनकाउंटर होने के बाद कैदियों ने भी राहत की सांस ली है। क्योंकि सिमी आतंकियों को अब बैरक से बाहर आने की अनुमति नहीं है।

सिर्फ अबू फैजल कर रहा विरोध
जेल में बंद सिमी आतंकी अबू फैजल ने सबसे पहले एनकाउंटर का विरोध किया था। बाद में अफसरों के सख्त रवैये को देखते हुए उसने भी अपना विरोध कम कर दिया है। वह अब अपने साथियों के साथ बैरक के अंदर खामोशी से उनसे बात कर रहा है। जेलकर्मी भी उन्हें जेल मैन्युल के हिसाब से ही डाइट दे रहे हैं। उसका कहना है कि वह प्रशासन का लगातार विरोध करेगा।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week