मोदी की छापामार नीति से घबराए बुजुर्ग की मौत, एक लाइन में लगा मर गया

Tuesday, November 22, 2016

;
कोट्टायम। केरल के एरूमेली जिले में 73 साल के एक व्यक्ति ने एक सहकारी बैंक में जमा अपने धन के भविष्य से चिंतित होकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि पीटीओ पिल्लै का शव सोमवार दोपहर उनके घर में फंदे से लटकता हुआ मिला। पिल्लै ने सहकारी बैंक में पांच लाख रुपये जमा किए थे। वो इस बात से खौफजदा थे कि सरकार ने उनके पैसों को विथड्रॉल करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। वो 10 हजार रुपए से ज्यादा नहीं निकाल सकते। वो घबराए हुए थे कि कहीं सरकार उनका पूरा पैसा ना हड़प जाए। 

वहीं, दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में अपने 50,000 रुपये जमा कराने के लिए कतार में खड़े 49 साल के व्यक्ति की भी मौत हो गई। उत्तम नगर निवासी सतीश कुमार अपने दोस्तों के साथ ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की शाखा के बाहर लाइन में खड़े थे। इसी दौरान वह गिर कर बेहोश हो गए। 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बैंक के बाहर लाइन में खड़े होने के दौरान वह अचानक बेहोश हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनकी जेब से 50,000 रुपये मिले। डॉक्टर का कहना है कि मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल सकेगा।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week