जतारा विधानसभा में इस बार होगा त्रिकोणिय मुकाबला, जमीन हो रही है तैयार - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

जतारा विधानसभा में इस बार होगा त्रिकोणिय मुकाबला, जमीन हो रही है तैयार

Tuesday, November 8, 2016

;
टीकमगढ। जिले की जतारा विधानसभा सीट आरक्षित है। जिस पर अलग अलग समुदाय के दो दिग्गज विधायक प्रत्याशी आमने सामने थे लेकिन अब तीसरा विधायक प्रत्याशी जतारा विधान सभा क्षेत्र में अगामी विधानसभा चुनाव के लिये जमीन तैयार कर रहा है। 

बताते चलें। जिले की जतारा विधानसभा सीट आरक्षित है। जिस पर सन 2008 में पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक भाजपा से और दिनेश अहिरवार भारती जन शक्ति पार्टी के उम्मीदवार आमने सामने थे। जिसमें दिनेश अहिरवार नाम मात्र वोटो से पराजित हुये थे। सन 2013 के विधान सभा चुनाव में पूर्व मंत्री हरिशंकर भाजपा से और दिनेश अहिरवार कॉग्रेस पार्टी के प्रत्याशी थे। जिसमें पूर्व मंत्री नाममात्र वोटो से चुनाव हार गये थे और काग्रेस प्रत्याशी दिनेश अहिरवार चुनाव जीतने में सफल हुये थे। 

कॉग्रेस प्रत्याशी दिनेश अहिरवार के सारथी विधानसभा खरगापुर क्षेत्र के विधायक पति सुरेन्द्र सिंह गौर थे। जो कि जतारा क्षेत्र, पलेरा क्षेत्र, व खरगापुर क्षेत्र में लोकप्रिय है। अब चर्चा ऐसी आ रही है। कि अज्ञात कारणों के चलते गौर परिवार और दिनेश अहिरवार के बीच मनमुटाव बना हुआ है। जिसको जिला पंचायत अध्यक्ष पर्वत लाल अहिरवार ने भांप लिया है। और शनै शनै अपने कदम गौर परिवार की ओर बढा दिये है। 

अगर ध्यान दिया जाये तो पर्वत लाल अहिरवार पलेरा क्षेत्र ग्राम पुरेनिया निवासी है और पूर्व विधायक हैं, जिनकी समाज के बंधुओ सहित पलेरा खरगापुर क्षेत्र में मजबूत पकड है और सत्ताधारी पार्टी के नेता है। सबसे महत्वपूर्ण पहलू यह है। कि जतारा विधानसभा क्षेत्र में कुछ सीमा पलेरा तहसील का शामिल है। और खरगापुर विधानसभा क्षेत्र में पलेरा तहसील का कुछ क्षेत्र शामिल है। 

खरगापुर क्षेत्र में गौर परिवार अपने भविष्य के लिये जमीन तैयार कर रहे है और पर्वत लाल अहिरवार जतारा क्षेत्र में अपने लिये जमीन नाप रहे है। इस प्रकार एक दूसरे पर निर्भर है। दोनों का एक हो जाना ही समझदारी है। जबकि पूर्व मंत्री हरिशॅकर खटीक खरगापुर बिधान सभा क्षेत्र के पूर्व बिधायक है। और वर्तमान में बिन्देश्वरी खटीक पति पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक पलेरा नगर पंचयात अध्यक्ष है। और जतारा बिधान सभा क्षेत्र से मंत्री रहे है। 

पूर्व मंत्री के राजनीति में सक्रिय होने से पर्वत लाल अहिरवार की राजनीति जमीन में सिमट गई थी। ऐसा लोगो का मानना है। वैसे पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक ने किसी भी खेत्र में दखलदांजी नही की। पर्वत लाल अहिरवार जिला पंचयात अध्यक्ष अगामी विधानसभा चुनाव जतारा क्षेत्र में भारती जनता पार्टी से टिकिट मांग सकते है। जिसकी पहल खरगापुर क्षेत्र से भाजपा नेता कर सकते है। ऐसा ताना बाना बुन कर तैयार हो गया है। 

हालांकि जतारा क्षेत्र में पर्वत लाल द्वारा हरिजन वोट पर सेंध करने पर कांग्रेस बिधायक दिनेश अहिरवार का समीकरण बिगड सकता है। हरिशंकर खटीक की लोकप्रियता बरकरार रहेगी, क्योकि जो हरिजन वोट पूर्व मंत्री का स्थायी है। वो यथावत माना जा रहा है। विधायक दिनेश अहिरवार का वोटबैंक पर असर पड सकता है। क्षेत्र में हरिशंकर की पहचान विकास के नाम पर मानी जाती है और मिलनसार जनप्रतिनिधि के तौर पर दिनेश अहिरवार पुनः कॉग्रेस पार्टी से अगामी चुनाव लड सकते है। भाजपा का प्रत्याशी कौन होगा अभी कुछ कहा नही जा सकता है। हरिशॅकर खटीक के चुनाव हारने से जतारा क्षेत्र का विकास अबरूद्ध हो गया है। ये बात क्षेत्र की समझ में आ गई।
;

No comments:

Popular News This Week