मंडला में मिला घटिया चावल, गरीबों में ना बांटने के आदेश

Friday, November 25, 2016

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। मण्डला जिले के गोदामों में भण्डारित कर रखे गये चावल, राशन दुकानों तथा धान खरीदी केन्द्रो पर भोपाल से आये विशेष जांच दल ने मंगलवार 22 नवंबर को आकस्मिक निरीक्षण किया जिसमें 3 राईस मिलर्स द्वारा प्रदाय किया गया 3500 कट्टी चांवल गुणवत्ताहीन पाया गया। 

जांच दल संबंधित मिलर्स को चावल 3 दिन में बदलने के निर्देश दिये है। जांच दल ग्राम निवास के वेयर हाउस पहुचा जहां भण्डारित 658 कट्टी चावल में ब्रोकन अधिक पाया गया। यहा चावल जेपी राईस मिल नैनपुर द्वारा प्रदाय किया गया है। ग्राम सेमरखापा और कटंगी ओपन केप के निरीक्षण में गुरूकृपा राईस मिल और अमित राईस मिल द्वारा प्रदाय किया गया 2900 क्विंटल चांवल गुणवत्ताहीन पाया गया जिसे बदलने के निर्देश दिये तथा संबंधित राईस मिलर्स को नोटिस जारी किया गया है। इस चावल को राशन दुकानों के लिये जारी ना करने के निर्देश दिये गये है।

कृषि उपज मंडी में पहुचकर किसानों से चर्चा करते हुये प्रदेश स्तरीय जांच दल के प्रमुख एवं नागरिक आपूर्ति निगम के महाप्रबंधक श्री राजीव निगम ने किसानों से कहा की इस वर्ष धान की पैदावार अच्छी हुई है तो धान खरीदी केन्द्र में अच्छी धान ही लाये गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता नही किया जायेगा।

श्री राजीव निगम ने खरीदी प्रभारीयों को सक्त निर्देश दिये है कि सरकार अच्छी धान खरीदी रही है मिट्टी नही जांच दल में श्री राजीव निगम के साथ उपसंचालक खादय एल मुजालदा, प्रमोद पवार भारतीय खादय निगम, आपूर्ति निगम के तकनीकी सहायक एस पी श्रीवास्वत जबलपुर, जिला प्रबंधक मनोज श्रीवास्तव, तथा जिला  खादय आपूर्ति अधिकारी जीपी लोधी शामिल थे। राजीव निगम ने राईस मिलर्स को यह भी निर्देश दिये है कि गुणवत्ता युक्त चांवल ही प्रदाय करें और रिजेक्ट चंावल 3 दिन के अंदर हटायें अन्यथा कार्यवाही की जायेगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week