दमोह में घूसखोर पटवारी मनोज कुमार गिरफ्तार

Wednesday, November 2, 2016

रमज़ान खान/बटियागढ़। दमोह जिले की बटियागढ़ तहसील के हल्का नं. 44 फुटेराकला में पदस्थ पटवारी मनोज कुमार राय को सागर लोकायुक्त पुलिस ने दो हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। यह पूरी कार्रवाही बुधवार की दोपहर से देर शाम तक तहसील कार्यालय में चलती रही। 

भ्रष्ट पटवारी ने आवेदक फुटेरा कला निवासी निर्मल कुमार असाटी पिता दामोदर प्रसाद असाटी से बटवारे की वही बनवाने के एवज में 25/10/2016 को 3000 रूपये रिश्वत की मांग की थी, जिस पर निर्मल ने 1000 रूपये तुरंत ही पटवारी को दे दिए थे, एवं बाकी की रकम बाद में देने का बोल दिया। लोकायुक्त डीएसपी नवल यादव ने कार्रवाई करते हुए बताया कि फुटेराकला के निर्मल असाटी ने लोकायुक्त पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी कि बंटवारा के बाद नई बही बनाने और कम्प्यूटर में फीडिंग कराने के नाम पर पटवारी 3 हजार रुपए मांग रहा है। 

लोकायुक्त पुलिस में शिकायत के बाद पहले एक हजार रुपए दिए गए फिर दो हजार रुपए देने की बात तय हुई। जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने अपना जाल बिछाना शुरूं किया। बुधवार को पटवारी मनोज राय तहसील पहुंचा तो वहां आवेदक निर्मल असाटी भी पहुंच गया, जैसे ही पटवारी ने रिश्वत की रकम अपनी पेंट की जेब में रखी और तुरंत ही लोकायुक्त पुलिस ने उसे दबोच लिया। सागर लोकायुक्त पुलिस की टीम ने तहसीलदार के कक्ष में बैठकर पूरी कार्रवाई की। 
आवेदक द्वारा लोकायुक्त सागर में की गई शिकायत पर पहले शिकायतकर्ता को टेप रिकॉर्डर दिया गया, जिसमें रुपए मांगे जाने की बात ट्रैप की गई। इसके बाद रकम देने की जगह को तय किया गया।

लोकायुक्त ने निर्मल को केमिकल लगी दो हजार रूपये की राशि दी गई। जब बुधवार को पटवारी मनोज राय ने निर्मल से रिश्वत की रकम ली, तभी टीम ने उसे धर दबोचा। इस कार्रवाई में लोकायुक्त टीआई रोहित यादव, आरक्षक राजकुमार सेन, आशुतोष व्यास, नौशाद कुरैशी व अरविंद नायक शामिल रहे। शिकायतकर्ता निर्मल असाटी का कहना है कि पटवारी द्वारा रुपए भी लिए जाते हैं और काम में विलंब भी किया जाता है, पटवारी की इस कार्यशैली और मनमानी से तंग आकर उन्होंने लोकायुक्त में शिकायत की जिस पर उक्त कार्रवाई की गई है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं