अपना पैसा बैंक में ही रखिए, छोटे नोट भी बदलने वाले हैं - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

अपना पैसा बैंक में ही रखिए, छोटे नोट भी बदलने वाले हैं

Thursday, November 10, 2016

;
नई दिल्‍ली। 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने के बाद केंद्र सरकार ने 500 और 2000 रुपए के नए नोट बैंकों में पहुंचा दिए हैं और गुरुवार को आरबीआई इन नोटों को जारी भी कर देगी। इसके बाद अब सरकार 1000 रुपए के भी नए नोट को जल्‍द जारी करेगी। इतना ही नहीं सरकार बाजार में मौजूद 10, 20, 50 और 100 के नोटों को भी नए रंगों, डिजाइन और आकार में लॉन्‍च करेगी।

दिल्‍ली में हो रही दो दिवसीय ईकोनॉमिक एडिटर्स कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए ईकोनॉमिक्‍स अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि आरबीआई अगले कुछ महीनों में 1000 रुपए के नए नोट, नए रंगों और डिजायन में जारी करेगी। इनका आकार और डिजाइन 500 और 2000 के नोट की ही तरह बिल्‍कुल नया होगा। इसके अलावा अन्‍य मूल्‍यवर्ग के नोटों को भी वक्‍त के साथ नए रंग रूप में पेश किया जाएगा। हालांकि दास ने इस नए नोट के जारी होने की कोई तय तारीख नहीं बताई है।

सभी पुराने नोट्स को नए रूप में पेश करेंगे
दास ने इसके आगे बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि सरकार सिर्फ 1000 रुपए ही नहीं बल्कि बाजार में चल रहे 10, 20, 50 और 100 के नोटों को भी नए रंगों, डिजायन और स्‍टाइल में फिर से पेश करेगी। उन्‍होंने साफ किया कि 100, 50 और अन्‍य मूल्‍यवर्ग के नोट पहले की ही तरह लीगल रहेंगे लेकिन इन्‍हें भी नए डिजाइन, रंगों और आकार में पेश किया जाएगा जो पुराने नोटों से दिखने में काफी अलग होंगे।

कुछ दिनों तक होगी परेशानी लेकिन भविष्‍य अच्‍छा
इससे पहले प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बाजार से 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने की वजह से जनता को कुछ दिनों तक परेशानी हो सकती है लेकिन भविष्‍य में उन्‍हें इसका फायदा मिलेगा। इससे लोगों के खर्च करने की प्रवृत्ति में भी बदलाव आएगा।

जेटली ने कहा कि सरकार के इस कदम से उन लोगों को ज्‍यादा तकलीफ होगी जिनके पास बड़ी मात्रा में कालाधन रखा हुआ है। वर्तमान स्थिति में लोगों को सुविधा पहुंचाने के लिए रिजर्व बैंक ने बैंकों के साथ मिलकर काम के घंटों को बढ़ाया है। हम कोशिश कर रहे हैं कि जल्‍द से जल्‍द पुराने नोटों की जगह नए नोट ले सकें।
;

No comments:

Popular News This Week