राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से हटाई गई स्टाफ नर्सो के बहाली के आदेश जारी

Tuesday, November 1, 2016

;
भोपाल। मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने 9 अगस्त 16 को आदेश जारी कर प्रदेश में एनसीडी प्रोजेक्ट में कार्यरत स्टाफ नर्सो की सेवाएं बजट नहीं होने का कारण बताते हुये समाप्त कर दी थीं। स्टाफ नर्सो की सेवा बहाली के लिए मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर के नेतृत्व में स्टाफ नर्सो का प्रतिनिधि मण्डल मंगलवार 25 अक्टूबर को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारियों से मिला था, तथा ज्ञापन सौंपकर स्टाफ नर्सो की सेवा बहाली की मांग की थी। 

जिस पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारियों ने एक सप्ताह में स्टाफ नर्सो को सेवा में पुनः लेने के आदेश जारी किये जाने का आश्वासन दिया था। शुक्रवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन प्रबंधन ने मुख्यालय से स्टाफ नर्सो को सेवा में पुनः रखने के आदेश जारी कर दिये हैं। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने बताया कि जिन स्टाफ नर्सो की सेवा समाप्त की गईं थी उनका अनुबंध आगामी एक वर्ष के लिए किया गया था। 

अप्रैजल में भी सभी स्टाफ नर्सें उत्तीर्ण हों गई थीं उसके बाद भी एनआरएचएम प्रबंधन ने 2016-17 में केन्द्र सरकार द्वारा बजट नहीं दिये जाने का कारण बताते हुये सेवाएं समाप्त कर दी गई थीं । म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ लगातार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से हटाये गये संविदा कर्मचारियों की बहाली के लिए धरना प्रदर्शन आंदोलन कर रहा है तथा मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को ज्ञापन दे रहा है। जिससे की हटाये गये संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की सेवाएं बहाल की जा सके।  
;

No comments:

Popular News This Week