सेंट जोसेफ स्कूल: गले में सुईयां चुभाकर छात्र की हत्या

Wednesday, November 16, 2016

;
राजेश शुक्ला/अनूपपुर। सेंट जोसेफ स्कूल में पढ़ाई कर रहे 2 छात्रों ने अपने ही साथी छात्र आयुष की गले में सुईया चुभाकर हत्या कर दी। जब से आयुष की मौत हुई है तब से ही घरवालों ने बेटे की मौत पर सवाल खड़े किए थे। जिसके बाद बिजुरी पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए उसी स्कूल के 8वीं क्लास के 2 छात्र को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। 

आरोपित छात्रों ने बताया कि आयुष का सिर पटक कर, रॉड से मार कर गले में 2 सुईंया चुभोई गई थी, जिससे उसकी मौत हो गई। जब पुलिस द्वारा कारण पूछे जाने की बात की गई तो छात्र ने बताया कि वो हॉस्टल में नही रहना चाहते थे, हत्या करने से हॉस्टल बन्द हो जाता इसलिए आयुष को मार डाला गया। 

बीते सोमवार को परिजनों ने पुलिस अधीक्षक को बालक के मौत को हत्या बताते हुए निष्पक्ष जांच कराने के लिए एक ज्ञापन भी दिया था। जिसके बाद अनूपपुर पुलिस अधीक्षक ने जांच के लिए एक टीम गठित किए जाने का भरोसा छात्र के परिजन को दिया है साथ ही जिस छात्रावास में आयुष रह रहा था उस छात्रावास की लापरवाही को भी गंभीरता से लेने की बात कही हैं। 

बिगड़ैल किस्म का छात्र था आरोपी राजेश्वर
सेंट जोसेफ स्कूल बिजुरी के छात्रावास मे रह रहा कपिलधारा बिजुरी निवासी कक्षा 8 वीं का छात्र राजेश्वर बिगडैल किस्म का छात्र था जो दो बार 8 वीं कक्षा मे फेल भी हो चुका है। वह छात्रावास मे रहना नही चाहता था जिस कारण उसने कुछ अलग कर छात्रावास को ही बंद कराने की योजना बनाकर अपने एक साथी शोभित को साथ मिलाकर आयुष लकड़ा पिता जीवन लकड़ा को छात्रावास के बाथरूम मे मौत के घाट उतार दिया था।  

स्कूल प्रबंधन की लापरवाही
सेंट जोसेफ स्कूल बिजुरी के मुखिया टॉमी थॉमस की लापरवाही के कारण आये दिन इस स्कूल मे ऐसे मामले सुर्खियो मे बने रहते हैं। पूवज़् मे भी इस स्कूल के छात्रावास मे रह रहे छात्र छात्रावास छोडकर भाग चुके हैं। लापरवाह स्कूल प्रबंधक विद्यालय मे हुई कई घटनाओं के बावजूद भी इस व्यवस्था को चुस्त दुरूस्त नही किये जिसका नतीजा यह निकला कि छात्रो ने ही छात्र की हत्या कर दी। इसके पहले भी इस विद्यालय के एक छात्र की मौत हो चुकी है वही विगत 6 माह पूवज़् एक छात्र की झूले से ऊंगली कटने का मामला भी प्रकाश मे आया था। 

इनका कहना है
मामले के दोनो आरोपी बालको को गिरफ्Þतार कर धारा 302, 34 के तहत न्यायालय मे पेश किया गया जहां से इन्हे बाल सुधार गृह रीवा भेज दिया गया है। 
महेन्द्र सिंह चौहान
नगर निरीक्षक, बिजुरी
( पढ़ते रहिए bhopal samachar हमें ट्विटर और फ़ेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)
;

No comments:

Popular News This Week