नोट की चोट: अटक गई शवयात्रा

Wednesday, November 9, 2016

भोपाल। मध्य प्रदेश के छतरपुर में एक अलग तरह का मामला सामने आया है। 500-1000 के नोट बंद होने के कारण यहां एक महिला की अंत्येष्टि नहीं हो पा रही है। उसके परिजन अंत्येष्टि का सामान खरीदने यहां-वहां परेशान हो रहे हैं। 

पूरे मोहल्ले से जुटाए छोटे नोट
छतरपुर शहर के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के मातवान मोहल्ला में 70 वर्षीय महिला राजबाई पति मथुरा प्रसाद अहिरवार, निवासी मातवान मोहल्ला वार्ड नंबर 3 की मंगलवार देर रात बीमारी के चलते मौत हो गई। बुधवार को जब उसके परिजन अंत्येष्टि का सामान खरीदने दुकानों पर पहुंचे, तो दुकानदार ने 500-1000 रुपए का नोट लेने से मना कर दिया। इसके कारण उसके परिजन यहां-वहां भटक रहे हैं।

मृतका की नातिन अनुराधा के मुताबिक, घर में 100 के महज 2-4 नोट ही थे, बाकी 500 और 1000 के। जब परिजन अंत्येष्टि का सामान लेने गए, तो दुकानदारों ने 1000 और 500 के नोटों को लेने से मना कर दिया। लिहाजा परिजनों को पूरे मोहल्ले से 100 और 50 के नोट मांगने पड़े। मृतका के बेटे कैलाश ने बताया कि, अंत्येष्टि सुबह करनी थी, लेकिन अब लगता है कि शाम को ही यह संभव हो पाएगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week