इधर नर्मदा नदी में डूबने वाली थी पूरी ट्रेन, 800 यात्रियों की जान थी खतरे में

Sunday, November 20, 2016

मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में एक बड़ा रेल हादसा टल गया. यहां महू-अकोला ट्रेन का इंजन पटरी से उतर गया. ट्रेन में 800 से ज्यादा यात्री सवार थे. इस हादसे में कोई भी यात्री हताहत नहीं हुआ. हादसा महू-खंडवा रेल रूट पर मोरटक्का के पास से हुआ. यहां रविवार दोपहर को अचानक इंजन पटरी से उतर गया. हादसे के वक्त ट्रेन की रफ्तार ज्यादा नहीं होने की वजह से सभी यात्री सुरक्षित हैं.

हादसा नर्मदा नदी पर बने पुल से करीब दो किलोमीटर पहले हुआ. यदि इंजन कुछ दूरी पर बने पुल पर जाकर बेपटरी होता तो कानपुर के बाद एक ही दिन में दूसरा बड़ा रेल हादसा हो सकता था. रेलवे विभाग के अफसरों ने बताया कि सनावद और ओंकारेश्वर के बीच ब्रेक लगाने के दौरान ट्रेन का इंजन पटरी से नीचे उतर गया. घटना के वक्त ट्रेन में 800 से ज्यादा यात्री सवार थे.

इंजन नीचे उतरने की वजह से महू और अकोला के बीच चलने वाली आधा दर्जन ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. इंजन के पटरी से नीचे उतरने की वजह पता करने के लिए रेलवे जांच कर रहा है. रविवार तड़के ही कानपुर के पास इंदौर से पटना जा रही ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए. इस हादसे में 100 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई, जबकि दर्जनों यात्री गंभीर रूप से घायल हैं.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week