नोट इंपैक्ट: शेयर बाजार में 6 लाख करोड़ डूबा, नोट की कीमत भी गिर गई

Wednesday, November 9, 2016

नईदिल्ली। 500 और 1000 के नोट बंद करने से कालाधन का क्या हुआ यह तो पता नहीं लेकिन शेयर बाजार में आम निवेशकों के 6 लाख करोड़ रुपए जरूर डूब गए। बाजार खुलने के सेकेंडों के भीतर ही सेंसेक्स 1,689 अंक टूट गया। रुपये में भी जोरदार गिरावट आई। गैर नकदी उत्पाद के रूप में सॉवरेन गोल्ड बांड तथा स्वर्ण आधारित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स में इजाफा हुआ।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज सुबह 26,251.38 अंक पर कमजोर खुलने के बाद सेकेंडों में 1,689 अंक की जोरदार गिरावट के साथ 25,902.45 अंक के निचले स्तर पर आ गया। सेंसेक्स के सभी 30 शेयर नुकसान में चल रहे थे।

हालांकि, निचले स्तर पर लिवाली से सेंसेक्स की स्थिति कुछ सुधरी। 11 बजे सेंसेक्स 975 अंक के नुकसान पर कारोबार कर रहा था। शुरआती कारोबार में सूचीबद्ध कंपनियों के शेयरों का मूल्यांकन 6 लाख करोड़ रुपये घट गया। कल कारोबार बंद होने के समय यह 111.44 लाख करोड़ रुपये था।

सबसे अधिक गिरावट वाली कंपनियां-
सबसे अधिक गिरावट में रीयल एस्टेट कंपनियों के शेयर रहे। सेंसेक्स की कंपनियों में अडाणी पोटर्स, आईसीआईसीआई बैंक, हीरो मोटोकार्प, आईटीसी, टीसीएस, एचडीएफसी, बजाज आटो, एमएंडएम, मारति तथा टाटा स्टील के शेयर नुकसान में कारोबार कर रहे थे।

इनके अलावा गेल, सिप्ला, ओएनजीसी, विप्रो, एसबीआई, एशियन पेंटस, एलएंडटी, सनफार्मा, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एक्सिस बैंक, डॉ रेडडीज तथा इन्फोसिस के शेयरों में भी गिरावट थी।

अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में रुपया भी सुबह के कारोबार में 28 पैसे टूटकर 66.90 प्रति डालर पर आ गया। सरकार द्वारा कालेधन पर लगाम के लिए अचानक 500 और 1,000 का नोट बंद करने के फैसले से रुपये में जोरदार गिरावट दर्ज हुई।

कल के बंद स्तर 66.62 की तुलना में रुपया 66.70 पर कमजोर खुला। जल्द यह और नीचे आया और सुबह के कारोबार में 66.90 से 66.70 प्रति डालर के दायरे में रहा। सुबह 10:45 बजे रुपया 66.90 प्रति डालर पर कारोबार कर रहा था। इस बीच, शुरआती कारोबार में छह मुद्राओं की बास्केट पर डालर इंडेक्स 2.06 प्रतिशत टूटकर 95.91 पर आ गया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं