राजधानी में धरने पर बैठे 5 हजार शिक्षक

Wednesday, November 30, 2016

भोपाल। अपनी चार सूत्रीय मांगों के समर्थन में मध्यप्रदेश के करीब पांच हजार शिक्षक आज बुधवार सुबह से टीटी नगर स्थित दशहरा मैदान में एक दिवसीय हड़ताल पर बैठे। मध्यप्रदेश शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि मध्यप्रदेश शिक्षक संघ के तत्वाधान में प्रदेश के शिक्षक अपनी चार सूत्रीय मांगों को लेकर को राजधानी भोपाल में एक दिवसीय धरना दिया जा रहा है। 

उन्होने बताया कि शिक्षकों की चार सूत्रीय मांगों में मुख्य रूप से प्रदेश के 27 हजार पदोन्नति के पात्र सहायक शिक्षकों को अपग्रेड कर शिक्षक बनाया जाना, कर्मचारियों की भांति शिक्षक एवं सहायक शिक्षकों को समयमान वेतनमान का लाभ दिए जाने, अध्यापकों को छठवे वेतनमान का लाभ दिए जाने, अध्यापकों का स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन किए जाने आदि शामिल हैं।

प्रदीप कुमार सिंह का कहना है कि प्रदेश की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश की शिक्षा एवं शिक्षकों को उपेक्षित किया जा रहा है। प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में शासकीय स्कूलों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं है। विषयवास शिक्षकों की पदस्थापना नहीं की गई। 

अतिथि शिक्षकों के भरोसे पूरा शिक्षा विभाग चल रहा है। प्रदीप कुमार सिंह का कहना है कि ग्रामीण आंचलों में गणित-अंग्रेजी के अतिथि शिक्षक नहीं मिल रहे हैं, और जो अतिथि शिक्षक स्कूलों में पढ़ा रहे हैं, उनको महज तीन से चार हजार रुपए का वेतना देकर उनका शोषण किया जा रहा है।

प्रदीप कुमार सिंह का कहना है कि पूरे वर्ष शिक्षकों से गैर शिक्षकीय कार्य जैसे वोटर लिस्ट, आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, छात्रवृत्ति आदि कार्य कराए जाते हैं। इस कारण शैक्षणिक गुणवत्ता प्रभावित होती है, जिस कारण बोर्ड परीक्षा परिणाम भी काफी प्रभावित होता है।

प्रदीप कुमार सिंह का कहना है कि इन्हीं कारणों के चलते प्रदेश के करीब पांच हजार शिक्षक आज टीटी नगर दशहरा मैदान में हड़ताल पर बैठे हैं। प्रदीप कुमार सिंह का कहना है कि यदि आज की हड़ताल के बावजूद भी सरकार नहीं चेती, तो प्रदेश के ब्लॉक स्तर पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week