Verma Travels की दादागिरी, बस में लगी आग, SI राकेश शर्मा ने सवारियों की जान बचाई

Saturday, October 1, 2016

भोपाल/मध्यप्रदेश। शहर की सड़कों पर वर्मा ट्रेवल्स की दादागिरी लगातार जारी है। यातायात नियमों को तोड़कर शहर में बस चलाना वर्मा ट्रेवल्स का शगल बन गया है। शुक्रवार रात भी ऐसा ही हुआ। भोपाल से अहमदाबाद जा रही बस को बीआरटी कॉरिडोर में डाल दिया गया। बस ने कॉरिडोर में चल रही एक बाइक को टक्कर मार दी। बाइक सवाल तो दूर जा गिरा लेकिन बाइक बस के नीचे फंस गई, फिर भी ड्रायवर ने बस नहीं रोकी। कुछ देर बाद बस ने आग पकड़ ली। यदि एसआई राकेश शर्मा मौके पर ना होते, तो 18 सवारियां बस में जिंदा जल गई होतीं। 

सीहोर नाके से पहले ये हादसा शुक्रवार देर रात करीब साढ़े आठ बजे हुआ। टीआई सुधीर अरजरिया के मुताबिक वर्मा ट्रेवल्स की एमपी 13 पी 3881 क्रमांक की बस 15 सवारियों को लेकर अहमदाबाद के लिए रवाना हुई। इसमें भोपाल के दो युवक और तीन युवतियों समेत गुजरात के 13 लोग सवार थे। ड्राइवर ने लालघाटी चौराहे के बाद ही एसी बस को बीआरटी कॉरिडोर में डाल दिया। संत हिरदाराम नगर से थोड़ा आगे बढ़ी बस ने सीहोर नाके के पास एक बाइक को टक्कर मार दी।

टक्कर से नई बस्ती, भैंसाखेड़ी निवासी 20 वर्षीय आकाश बाथम दूर जा फिंका। उसकी बाइक बस के अगले हिस्से में फंसी रह गई। हादसे के बाद बस में चीख पुकार मच गई। इसके बाद भी ड्राइवर ने बस रोकने के बजाए रफ्तार और बढ़ा दी। 

बैरागढ़ थाने के एएसआई राकेश शर्मा उस वक्त घटनास्थल से महज सौ मीटर दूर ही थे। टक्कर की आवाज सुनकर राकेश बस की ओर पलटे। देखा बस के अगले हिस्से में बाइक फंसी हुई थी।सड़क पर बाइक के घर्षण से चिंगारी निकल रही थी। इससे बाइक के पेट्रोल टैंक में आग लग गई। कुछ देर में आग ने बस के अगले हिस्से में लगे फाइबर को चपेट में लिया फिर टायरों में भी आग लग गई। धुआं उठते देख सवारियों में हाहाकार मच गया। राकेश शर्मा ने तत्काल सूझबूझ से काम किया और पत्थर से बस के कांच तोड़ दिए। इससे पूरी बस आग का गोला बनने से बच गई और सभी सवारियों को सकुशल बाहर उतार लिया गया। 

आकाश की हालत गंभीर
इस हादसे में आकाश के सिर, हाथ और पीठ में गंभीर चोटें आई हैं। उसे पास के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हादसे के वक्त वह उसी अस्पताल में काम करने वाली अपनी बहन को लेने जा रहा था। बैरागढ़ पुलिस ने बस जब्त कर ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

बीआरटी कॉरिडोर में थी बस
गंभीर बात ये है कि ड्राइवर ने इतनी सवारियों की जान जानबूझकर आफत में डाली थी। दरअसल, हादसे के वक्त बस बीआरटी कॉरिडोर में चल रही थी। इसमें लो फ्लोर बस के अलावा केवल एंबुलेंस और अन्य इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े वाहनों को ही चलने का अधिकार है। टीआई के मुताबिक इसलिए बस के खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जा रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week