घटिया कीटनाशक वाली प्रतिबंधित कंपनियों की लिस्ट | List of companies nasty pests

Sunday, October 9, 2016

;
सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। प्रमुख सचिव कृषि विकास डॉ.श्री राजेश राजौरा के निर्देश पर मध्यप्रदेश में अमानक कीटनाशक बेचने वाली कंपनियों पर उनके उत्पादों की बिक्री और भण्डारन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिन कंपनीयों पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें 

स्वास्तिक केमीकल्स एण्ड फर्टिलाइजर मंडीदीप, 
अवरिल बायो एंड फर्टिलाइजर मंडीदीप, 
शिवालिक एग्रो केमिकल्स चंडीगड़, 
एचपीएम केमिकल्स आजादपूर नई दिल्ली, 
श्रीजी इंसेक्टीसाईटस एंड पेस्टीसाईडस धनसुरा अरावली गुजरात, 
जीएसपी क्राप साइंस नवरंगपुरा अहमदाबाद, 
किस्टल क्राप प्रोटेक्शन नाथूपुर सोनीपत, 
धानुका एग्रीटेक जोशी रोड नई दिल्ली, 
इंसेक्टीसाइड़स इंडिया उदयपूर जम्मू नई दिल्ली, 
भारत इंसक्टिसाइडस राजेन्द्र प्लेस नई दिल्ली, 
यूपीएल लिमिटेड खार मुंबई।

यह उल्लेखनीय है कि विगत वर्ष 2015-16 के दौरान प्राप्त शिकायतों के आधर पर कृषि विभाग द्वारा प्रदेश के जिलों में एक मुहिम चलाकर विक्रेय किये जा रहे कीटनाशकों के नमूने लिये थे जिनकी जांच कराये जाने पर अनेक कंपनीयों के नमूने अमानक पाये गये संबंधित कंपनीयों का इस संबंध में कारण बताओं नोटिस जारी किया गया था लेकिन किसी भी कंपनी का जवाब संतोषजनक नही पाया गया जिसके आधार पर कृषि विभाग कीटनाशक बनाने वाली उल्लेखित 11 कंपनीयों के उत्पाद बेचने और भण्डारन किये जाने पर प्रतिबंध लगा दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में अभी भी लगभग 140 कीटनाशक उत्पादक कंपनीयां जो प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर की है उनके द्वारा बेचे जा रहे कीटनाशकों के अमानक पाये जाने की शिकायते विभाग को प्राप्त हुई है जिनके विरूद्ध कार्यवाही विचाराधीन है। मध्यप्रदेश का सर्वाधिक धान उत्पादक बालाघाट जिले में अमानक कीटनाशकों के विक्रेय किये जाने की शिकायत किसानों द्वारा की जा रही है।

विदिशा की एक कंपनी के उत्पादक कीटनाशक का छिडकाव करने से जिले में अनेक किसानों की फसलें जल गई। यह भी उल्लेखनीय है कि कीटनाशक विक्रेताओं द्वारा किसानों को कीटनाशक की बिक्री का बिल नही दिया जाता  जिसके कारण किसानों के पास संबंधित कंपनी एवं विक्रेता के विरूद्ध कार्यवाही करने का कोई आधार नही रहता इस तरह समूचे जिले में किसानो के साथ अमानक कीटनाशक बिक्री के आधार पर धोखाधडी की जारही है। जिन कंपनीयो पर प्रतिबंध लगाया गया है उन कपनीयों के उत्पाद बालाघाट जिलें में धडल्ले से बेचे जा रहे है तथा कृषि केन्द्रों में प्रतिबंधित कीटनाशकों का स्टाक भण्डारित है।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week