BMHRC: संविदा कर्मचारियों पर मनमानी शर्तें - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

BMHRC: संविदा कर्मचारियों पर मनमानी शर्तें

Tuesday, October 25, 2016

;
भोपाल। भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल में संविदा कर्मचारियों पर मनमानी शर्तें लादी जा रही हैं। इसके तहत एक दिन छुट्टी करने पर तीन दिन का वेतन काटा जाएगा। दाढ़ी बनाकर नहीं आने पर उस दिन का वेतन काट लिया जाएगा। इसके विरोध में सोमवार को संविदा कर्मचारियों ने डायरेक्टर का घेराव कर इन शर्तों को वापस लेने की मांग की है।

बीएमचआरसी में मैन पावर का ठेका बदल दिया गया है। वर्ल्ड क्लास सर्विसेस एजेंसी को नया कांट्रेक्ट दिया गया है। इसने कर्मचारियों के लिए नए भर्ती नियम बनाए हैं। इन्हें स्वीकार करने के बाद ही कर्मचारी को एजेंसी अपना कर्मचारी मानेगी। शर्तों के अनुसार कर्मचारी को अवकाश लेने 10 दिन पहले सूचना देनी होगी। अगर वह बिना जानकारी दिए एक दिन का अवकाश लेता है तो उसका तीन दिन का वेतन काट लिया जाएगा। ड्यूटी के दौरान रोज दाढ़ी बनाकर आनी होगी। बाल छोटे रखने होंगे। ऐसा नहीं करने पर उस दिन की गैर हाजिरी लगाकर एक का वेतन काट लिया जाएगा। कर्मचारियों का ट्रांसफर प्रदेश में कहीं भी किया जा सकेगा।

इन शर्तों से ठेका कर्मचारियों में भारी नाराजगी है। अस्पताल में करीब 500 संविदा कर्मचारी हैं,जो करीब 15 साल से यहां काम कर रहे हैं। कर्मचारियों ने एजेंसी की मनमानी के खिलाफ आवाज उठाते हुए डायरेक्टर से शर्तों को बदलवाने की मांग की। उन्होंने इसे श्रम कानूनों का उल्लंघ बताया है।

एजेंसी की हैं पहले से शिकायतें
सूत्रों के मुताबिक वर्ल्ड क्लास सर्विसेस एजेंसी के खिलाफ श्रम विभाग व पीएफ कार्यालय में कई शिकायतें हैं। उस पर पूर्व में कर्मचारियों ने पीएफ जमा नहीं करने के आरोप लगाए हैं। इतनी शिकायतों के बावजूद बीएमएचआरसी प्रबंधन ने इस एजेंसी को ठेका दे दिया है।

वेतन भुगतान अधिनियम का उल्लंघन
विशेषज्ञों के अनुसार कोई भी एजेंसी वेतन से संबंधित अपने नियम नहीं बना सकती। इसके लिए वेतन भुगतान अधिनियम है,जिसका पालन किया जाना आवश्यक है। इसके तहत कर्मचारी को अर्निंग लीव और केजुअल लीव दी जाना चाहिए। केजुअल लीव के लिए दस दिन पहले से आवेदन देने की कोई बाध्यता नहीं है। न ही एक दिन के अवकाश पर तीन दिन का वेतन काटा जा सकता है। इस मामले में बीएमएचआरसी के डिप्टी डायरेक्टर एडमिनिस्ट्रेशन एसआर गनवीर से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह इस मामले में कुछ नहीं बोलेंगे।
;

No comments:

Popular News This Week