शशि थरूर ने पहले मोदी का गुणगान किया, फिर हर मुद्दे की हवा निकाल दी

Thursday, October 27, 2016

;
नईदिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बेहतरीन राजनीति का परिचय दिया हुआ है। बिल्कुल मंजे हुए खिलाड़ी की तरह उन्होंने पहले तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की खूब तारीफ की, फिर धीरे से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग लिए। इतना ही नहीं थरूर ने मोदी की बलूचिस्तान पॉलिसी को भी गलत बताया और पाकिस्तान को दुनिया के बीच अलग थलग कर देने की रणनीति को भी गलत करार दे दिया। थरूर एक न्यूज चैनल सीएनएन-न्यूज18 से बात कर रहे थे। 

पहले की दिल खोलकर तारीफ
पीएम मोदी के बारे में कहा, 'मैं नरेंद्र मोदी की ऊर्जा की तारीफ करता हूं। वह समय को लेकर बेहद सख्त हैं और यात्राओं में थकते नहीं हैं, उनकी आवाज और ऊर्जा में कमी नहीं आती है। आप उनसे सहमत हों या ना हों उनकी कई चीजें प्रशंसा के काबिल हैं।'

फिर मांग लिए 'सर्जिकल स्ट्राइक' के सबूत
सर्जिकल स्ट्राइक पर शशि थरूर ने कहा कि निजी तौर पर वे मानते हैं कि भारतीय सेना जनता से कभी झूठ नहीं बोलेगी। थरूर ने कहा, 'मेरे लिए डीजीएमओ के शब्द ही काफी हैं, इसलिए मुझे लगता है कि सबूत जारी करना कोई बुद्धिमानी नहीं है लेकिन पाकिस्तान के झूठ को बेनाकाब करने के लिए इसमें भी कोई बुराई नहीं है कि हमने पाकिस्तान में जहां-जहां हमला किया उसे जुड़ीं जानकारी सार्वजनिक कर दी जाए।' 

बलूचिस्तान का मुद्दा उठाना उचित नहीं
थरूर ने पीएम मोदी के बलूचिस्तान का मुद्दा उठाने को लेकर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि कश्मीर के साथ ही बलूचिस्तान का मुद्दे उठाने को वह सही नहीं मानते। थरूर ने कहा कि भारत का यह कदम अंतरराष्ट्रीय समुदाय में तू-तू मैं-मैं करने जैसा है। थरूर ने कहा कि किसी के आंतरिक मामले में दखल देने से हमारा ही दावा कमजोर होता है। 

पाकिस्तान को अलग थलग नहीं कर पाएंगे
थरूर ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय जगत में अलग-थलग करना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि चीन और अमेरिका अलग-अलग वजहों से पाकिस्तान के साथ ही हैं। 
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week