कलेक्टर ने लिखा पत्र: गोदाम में भरा पड़ा है घटिया गेंहू-चावल - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

कलेक्टर ने लिखा पत्र: गोदाम में भरा पड़ा है घटिया गेंहू-चावल

Sunday, October 2, 2016

;
आनंद ताम्रकार। बैगा आदिवासी बाहुल्य डिंडौरी जिले में मिट्टी एवं कचरा मिश्रित घटिया गेंहू तथा मान्य स्तर से मान्य अधिक कनकी मिश्रीत गुणवत्ताहीन चावल सार्वजनिक वितरण प्रणाली मध्याह्न भोजन तथा सांझा चूल्हा कार्यक्रम के तहत पात्र हितग्राहीयों को उचित मूल्य की दुकानों से वितरित किये जाने से उपभोक्ताओं की ओर शिकायतें आ रही है। कलेक्टर ने जांच में शिकायतों को सही पाया और शासन को पत्र लिखा है कि गोदाम में घटिया गेंहू-चावल भरा पड़ा है। इसे वापस उठा ले जाइए। 

इन शिकायतों के आधार पर कलेक्टर डिडौरी द्वारा नगरीय क्षेत्र में स्थित कोतवाली थाना के निकट वेयर हाउसिंग कारपोरेशन के गोदाम में नागरिक आपूर्ति निगम के द्वारा भण्डारित गेहु तथा चावल के स्टाक का 7 सितंम्बर 2016 को आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान गोदाम परिसर में गोदाम क्रमांक 5 में स्टेग नं.1 में 6473 बोरों में 3236 5 क्विंटल गेहुं तथा गोदाम क्रमांक 1 तथा 2 में स्टेग क्रमांक 1 से 4 तथा गोदाम क्रमांक 2 के स्टेग क्रमांक 1 में कुंल 10366 बोरों में 6486 क्विंटल चांवल सग्रहित पाया गया उक्त गेहु नागरिक आपूर्ति निगम सिवनी केन्द्र के वेयर हाउस गोदाम से डिडौरी गोदाम में भण्डारित कराया गया था। इसी तरह सग्रहित पाया गया चावल नागरिक आपूर्ति निगम मण्डला के द्वारा डिडौरी प्रदाय केन्द्र में भण्डारित किया गया है।

निरीक्षण के दौरान प्रथम दृष्टय मिट्टी एवं कचरा मिश्रित गुणवत्ताहीन गेहु एवं अमानक स्तर का चावल पाया गया। 7 सितंबर 2016 को तहसीलदार डिडौरी से भण्डारित ग्रेहु और चांवल की सेंपल लेकर जांच कराई गई जिसमें गोदाम नंबर 2 में 1974 बोरी चांवल गुणवत्ताहीन पाये जाने पर संग्रहित बोरों में रखे चांवल का सेंपल लिया गया तथा गोदाम क्रमांक 5 में 2688 बोरी में से संेपल लिया गया। सेंपलिंग लेकर परीक्षण किये जाने पर चांवल की परीक्षण रिपोर्ट में स्मॉल ब्रोकन मान्य 1 प्रतिशत के विरूद्ध 2 प्रतिशत तथा बिग ब्रोकन की मान्य सीमा 24 प्रतिशत के विरूद्ध 32.5 प्रतिशत पाई गई।

इसी प्रकार भण्डारित गेहु की जांच कराई गई मौके पर जांच पचनामा बनाया गया तथा गेहु का परीक्षण जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम एवं निगम के तकनीकी सहायकों से कराया गया उनसे प्राप्त परीक्षण रिपोर्ट के अनुसार गेहु में विजातिय तत्व निर्धारित मापदण्ड के विरूद्ध अधिक पाया गया।

इस प्रकार गोदामों में अमानक स्तर का गेहु चांवल भण्डारित किया गया है। इन तथ्यों के आधार पर कलेक्टर डिडौरी द्वारा 27 सितंबर 2016 को पत्र क्रमांक 1069 के माध्यम से आयुक्त सहप्रबंधक संचालक खादय नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण संचालनालय एवं मध्यप्रदेश नागरिक आपूर्ति निगम भोपाल को पत्र प्रेषित करते हुये लिखा है कि नागरिक आपूर्ति निगम डिडौरी के प्रदाय केन्द्र वेयर हाउस की गोदामों में सग्रहित गेंहू तथा चावल गुणवत्ताहीन स्तर का पाया गया है जिसके लिये निगम के जिलास्तरीय अधिकारी उत्तरदायी है जिनके द्वारा भण्डारन/सग्रहण एवं प्रदाय में निगम मुख्यालय स्तर से दिये गये निर्देशों की अव्हेलना की जा रही है उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किये जाने के साथ ही जिले में मानक स्तर का गेहूं तथा चावल उपलब्ध कराये जाने का अनुरोध किया गया है।

इस पत्र की प्रतिलिपि प्रमुख सचिव मध्यप्रदेश शासन खादय नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग भोपाल को प्रेषित की गई है।
;

No comments:

Popular News This Week