बेटी की तरफ बढती मौत के सामने सीना तानकर खडा हो गया पिता, जान देकर जान बचाई - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

बेटी की तरफ बढती मौत के सामने सीना तानकर खडा हो गया पिता, जान देकर जान बचाई

Friday, October 14, 2016

;
मां की ममता और कुर्बानियों की कहानियों से तो हरकोई परिचित है परंतु यह एक जांबाज पिता की कुर्बानी की कहानी है। इमारत धंसक रही थी। मलवा नीचे की तरफ गिर रहा था और ठीक नीचे 3 साल की मासूम बेटी खेल रही थी। पिता ने भागकर बेटी को अपने सीने से लगा लिया। सारा मलवा पिता के उपर आ गिरा। पिता की दर्दनाक मौत हो गई लेकिन हादसे के 12 घंटों बाद भी बेटी सही सलामत बाहर निकाल ली गई। पिता की कुर्बानी काम आ गई। 

हादसा चीन के झेजियांग प्रांत में सोमवार को हुआ। एक के बाद एक चार रिहायशी इमारतें गिर गईं। मलबे से दो और शव मिलने के साथ ही मरने वालों की संख्या 22 तक पहुंच गई है। कई लोग गंभीर हैं। राहत कार्य में लगे लगभग 800 कर्मियों ने अपना कार्य पूरा कर लिया है। इसमें कहा गया कि जीवित मिले लोगों में से छह को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

बचने वालों में 3 साल की एक बच्ची भी शामिल है। छह मंजिला चार इमारतों के मलबे से यह बच्ची 12 घंटों बाद निकाली गई। इसमें साथ ही बताया गया कि मृत पिता के सीने से लिपटी वु निंगसी नाम की इस बच्ची को मामूली चोटें आई हैं। देखकर पता चलता है कि पिता ने गिरते मलबे से बच्ची को बचाने के लिए अपने सीने से चिपका लिया था।

राहतकर्मियों ने बताया कि जो मकान ढहे हैं, उनका निर्माण ग्रामीणों ने किया था। धवस्त मकानों के पास पांच और मकान हैं, जो 1970 के दशक में बनाए गए थे। ये मकान क्षतिग्रस्त नहीं हुए हैं, लेकिन किसी अन्य हादसे से बचने के लिए राहतकर्मी इन मकानों को गिराने में लगे हैं। इस हादसे के कारणों की जांच जारी है।
;

No comments:

Popular News This Week