कैसे पहचानें बेवसाइट की लिंक असली है या फर्जी - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

कैसे पहचानें बेवसाइट की लिंक असली है या फर्जी

Wednesday, October 26, 2016

;
ई-कॉमर्स या इ-व्यवसाय कंपनीज अमेज़ॉन, स्नैपडील ,फ्लिपकार्ट आदि के बेहद सस्ते ऑफर ने लोगों को काफी आकर्षित किया है। यूजर्स इस ऑफर को काफी पसंद कर रहे हैं। इस तरह के शानदार ऑफर के आने के बाद से ही उससें जुड़े कई तरह के फर्जी ऑफर सामने आ रहे हैं। इस फर्जी ऑफर्स में से एक है  http://Amazon-Gifts.Deal--Day.com इस लिंक पैर क्लिक करिये और फ़ोन जीतिए । वेसे भी लेन-देन वाली वेबसाइट्स में http वेबसाइट से ज्यादा सिक्योर https रहती है। भोपाल समाचार डॉट कॉम आज आपको बता रहे हैं, कि किस तरह से पहचानें कि आने वाली लिंक असली है या फर्जी। यदि आप इसे पहचान गए तो आप अपने मोबाइल/कम्प्यूटर को वायरस के हमले से तो बचा ही लेंगे, ठगी का शिकार होने से भी आसानी से बचा लेंगे। 

http://festival-sale.com/ कुछ इस तरह की भी फेक लिंक रहती है। इस लिंक पर आगे जाने पर आपको पता चलेगा कि पैसे देने के पहले आपको इसे 8 या 10 वॉट्सऐप ग्रुप में शेयर करना जरूरी है। शेयर करने के बाद अपना डिलिवरी ऐड्रेस बताना है। ये लिंक क्लिक करने पर आपको ईबे के एक फेक पेज पर ट्रांसफर किया जाता है। यहां से आते हैं ऑफर्स हालांकि, अमेज़ॉन की ओर से ऐसा कोई ऑफर जारी ही नहीं किया गया था।

आपको बता दें कि ये सभी ऑफर्स ठगी करने वाले हैं जो व्हाट्सएप के जरिए आते हैं। यूजर्स भी ऐसे किसी भी ऑफर पर ध्यान न दें क्योंकि ऐसे ऑफर्स फेक होते हैं।

बिल्कुल नहीं करें ऐसा 
व्हाट्सएप पर आने वाले इस ऑफर के तहत आपको या तो किसी लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है अथवा कोई एप डाउनलोड करना होती है लेकिन ऐसे मैसेज में आने वाले किसी भी लिंक पर क्लिक नहीं करें अथवा फिर ऐसा कोई भी एप डाउनलोड नहीं करें जो इस तरह ऑफर देने के लिए कहता हो। ऐसे मैसेज और लिंक बिल्कुल फेक होते हैं।

क्या कहना है इन्टरनेट एक्सपर्ट का?
हमने साइबर वेलफेयर सोसाइटी के सचिव शकील अंजुम से इस बारे में बात की। उनका कहना है कि ये एकदम फेक सेल है और इस तरह के स्कैम्स में यूजर्स लालच में आकर बड़ी आसानी से फंस जाते हैं। 

उनका कहना है कंज्यूमर्स काे ये बात ध्यान में रखने की जरूरत है कि ऐसा कोई तरीका नहीं है, जिससे आप किसी प्रोडक्ट पर 99% डिस्काउंट हासिल कर सकें। उन इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स के मामले में तो ऐसा होना नामुमकिन है जो हाल ही में लॉन्च किए गए हों। अगर यूजर्स ऐसे किसी ऑफर का सामना करते हैं तो उन्हें इसे सिरे से इग्नोर कर देना चाहिए और फेक लिंक पर क्लिक नही करना चाइये ।

वे कहते हैं कि इस मामले में यह फेक ऑफर इसलिए है, क्योंकि सर्कुलेट हो रहे मैसेज में दिए गए लिंक पर क्लिक के बाद वह आपको बाकी प्रोडक्ट्स सर्च करने का ऑप्शन नहीं देता। जबकि अमेज़ॉन या स्नैपडील की ऑरिजिनल साइट पर जाने के बाद आपको सर्च, साइन अप, नेक्स्ट प्रोडक्ट्स या कार्ट का ऑप्शन मिलता है। आपको किसी एक प्रोडक्ट के सेलर ऑप्शन्स भी नजर आते हैं। फेक ऑफर्स के मामले में आपको कभी भी सेलर्स ऑप्शन नजर नहीं आता है।

क्या होता है अगर आप क्लिक करते हैं इन लिंक को
शकील अंजुम ने बताया कि जब कोई भी यूजर ऐसे लिंक पर खरीदने के लिए क्लिक करता है तो सबसे पहले वायरस डाउनलोड का खतरा होता है। अगर आपने वॉट्सऐप ग्रुप पर ये लिंक शेयर किया है तो इससे किसी ऐप का ऑटोडाउनलोड भी शुरू हो सकता है जिससे कंपनियां पैसा कमाती हैं। इसके अलावा, ऐसा भी हो सकता है कि कोई वायरस या मालवेयर आपके सिस्टम में आ जाए। 

वेबसाइट के बारे में सामान्य ज्ञान
वेबसाइट के डोमेन नाम सामान्यता .कॉम .इन .नेट .ऑनलाइन .भारत आदि रहते है (.com,  .org,  .co.in,  .net,  etc).

उदाहरण के तौर  पर E.g., in http://amazon.diwali-festivals.com,  जो अक्षर .कॉम के पहले आरहा है वो अमेज़न नही है

सओ ये पेज अमेज़ॉन का नही है diwali-festivals.com ये कोई जनि पहचानी वेबसाइट नही है । अगर अमेज़न ऑफर देगा तोह इस तरह की लिंक देगा http://www.amazon.in/Offers-on-Clothing/ ये सही ऑफर लिंक है ।

अगर आप वेबसाइट के लिंक  ( amazone.festival-sale.in ) भी दिया गया है।  पर ठीक से ध्यान देंगे तो यह मशहूर ऑनलाइन वेबसाइट Amazon के नाम पर बनाई गए फर्जी वेबसाइट Amazone है। इसकी स्पेलिंग में एक ई ज्यादा है।

हालांकि यह वेबसाइट पूरी तरह दिखने में Amazon.in जैसी ही है। लेकिन जैसे ही आप फोन खरीदने के लिए Buy Now पर जाते हैं तो यहां ऑप्शन बदले से दिखाई पड़ते हैं। यहां आपकी डीटेल भरने के लिए एक फॉर्म दिया गया है। जाहिर है कि इस फॉर्म को भरने से आपका डेटा और पैसे दोनों ही जा सकते हैं। फॉर्म भरने के बाद आपसे कहा जाता है कि पहले इस ऑफर के बारे में 8 व्हाट्सऐप ग्रुप में मैसेज भेजा जाए। और इसी तरह ये चेन चलती रहती है।

बता दें कि इसके अलावा वेबसाइट पर कोई भी होमपेज नहीं है। कहीं भी क्लिक करने पर आपकेा सिर्फ ऑफर का पेज ही नज़र आएगा।

लेनदेन वाली वेबसाइट्स में
www.something.icicibank.com ये बैंक की लिंक हो सकती है क्योंकि .कॉम के पहले icici आ रहा है। अगली लिंक देखिये www.icicibank.some1else.com ये आईसीआईसीआई बैंक की वेबसाइट नही है फेक लिंक है।

इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर करें ताकि लोग ऑफर के चक्कर में ऑनलाइन ठगी से बचे।यदि आपके पास भी है ऐसी ही किसी फेक बेवसाइट के बारे में जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। भोपाल समाचार डॉट कॉम साइबर फ्रॉड के खिलाफ लड़ाई के लिए हमेशा आपके साथ है। हमारा ईपता है: editorbhopalsamachar@gmail.com
;

No comments:

Popular News This Week