बदले में पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायोग के अधिकारी को भगाया

Friday, October 28, 2016

नई दिल्‍ली। गुरुवार को पाकिस्‍तान उच्‍चायोग के एक अधिकारी मोहम्‍मद अख्‍तर को जासूसी के आरोप में पकड़े जाने के बाद उसे भारत सरकार ने अवांछित घोषित करते हुए 48 घंटे के अंदर भारत छोड़ने के आदेश दे दिए। अपना जासूस पकड़े जाने से बौखलाए पाक को जब कुछ नहीं सूझा तो उसने भी बदले की कार्रवाई करते हुए पाकिस्‍तान में भारतीय उच्‍चायोग के एक अधिकारी को देश छोड़ने के लिए कह दिया।

एक पाकिस्‍तानी अखबार के अनुसार भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने अब्‍दुल बासित को तलब करके उन्‍हें पाक अधिकारी द्वारा जासूसी करने की बात से अवगत कराया और पाकिस्‍तानी अधिकारी को 48 घंटे में देश छोड़ने के लिए कहा। पाकिस्‍तान ने भारत के इस कदम को विएना कन्‍वेंशन का उल्‍लंघन बताते हुए विरोध दर्ज करवाया।

इसके बाद पाकिस्‍तान के विदेश सचिव ने भारतीय उच्‍चायुक्‍त गौतम बांबावाले को गुरुवार रात में बुलाकर कहा कि इस्‍लमाबाद भी उनके एक अधिकारी को वापस भारत भेजेगा। इस अधिकारी का नाम सुरजीत सिंह बताया जा रहा है।

मोहम्‍मद अख्‍तर कर रहा था भारत में जासूसी
बता दें कि गुरुवार को दिल्‍ली पुलिस ने पाकिस्‍तान उच्‍चायोग के एक अधिकारी मोहम्‍मद मुख्‍तार को जासूसी के आरोपों में हिरासत में लिया था। उससे पूछताछ के बाद उसे मिली राजनायिक छूट के चलते उसे छोड़ दिया गया लेकिन 48 घंटे में भारत छोड़ने के आदेश दे दिए गए।

हिरासत में लिए जाने के भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाक उच्‍चायुक्‍त अब्‍दुल बासित को तलब किया था। दिल्‍ली पुलिस के जॉइंट सीपी रविंद्र यादव ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने एक जासूसी गैंग को पकड़ा है जो पाक उच्‍चायोग में काम करने वाले एक अधिकारी के लिए काम करती थी। इसमें राजस्‍थान के दो लोग भी शामिल थे जो अख्‍तर को खुफिया जानकारियां उपलब्‍ध करवाते थे। यह लोग दिल्‍ली के जू में मिलने वाले थे जहां जानकारी और नगद एक दूसरे से एक्‍सचेंज करते।

दिल्‍ली पुलिस के अनुसार अख्‍तर और उसके दो गिरफ्तार साथियों के पास से जम्‍मू-कश्‍मीर और सीमा पर सेना की पोस्टिंग के मैप और अन्‍य जानकारियों के कागजात मिले हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week