शहडोल चुनाव: नहीं खुला अभी तक कांग्रेस पार्टी का चुनाव कार्यालय

Saturday, October 29, 2016

राजेश शुक्ला/अनूपपुर। लोकसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जहां शहडोल संसदीय क्षेत्र में विजय प्राप्त करने का प्रयास कर रहे हैं, वहीं संसदीय क्षेत्र के स्थानीय कार्यकर्ता पार्टी एवं प्रत्याशी के साथ धोखा कर रहे हैं। स्थानीय पार्टी कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं जिम्मेदार पदाधिकारियों की उदासीनता के चलते अभी तक संसदीय क्षेत्र अंतर्गत अनूपपुर जिले में कांग्रेस पार्टी का चुनाव कार्यालय नहीं खुल सका है। 

जनचर्चा है कि इसकी जिम्मेदारी पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल सिंह को दी गई है किन्तु अभी यह साफ नही है कि कांग्रेस का प्रचार कैसा है। कहीं जमीन में दिख नही रहा है। कांग्रेस की रणनीति क्या होगी यह जनता के सामने अभी उजागर नही हो पाई है। जिससे कार्यकर्ताओं में असंमंजस्य की स्थिति बनी हुई है। वहीं कोतमा विधायक मनोज अग्रवाल कोतमा विधानसभा में सक्रियता तो दिखाई है किन्तु यह सक्रियता प्रत्याशी को जिताने के लिए नही लग रही है। इस उपचुनाव से दोना विधायकों की परीक्षा भी होगी कि इनका अपने क्षेत्रों में जनता के बीच कितनी पहुंच है, यह तो समय ही बतायेगा, ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस के नेता आपसी गुटबाजी में उलझ कर इस चुनाव को भी उलझाने के चक्कर में है। 

जिला मुख्यालय सहित पूरे जिले में अभी कांग्रेस का प्रचार नही दिख रहा है जबकि भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं को सक्रिय कर दिये है। ऐसा भी माना जा रहा है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओ ने अपने पुराने ढर्रे को बदलना नही चाह रहे है अगर पुराने ढर्रे को नही बदला तो कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी है यह सोचना उन तथाकथित वरिष्ठ नेताओं को अपनी सोच बदलकर युवाओं को आगे ला कर प्रचार की जिम्मा सौपना होगा अन्यथा यह वरिष्ठ अपने जैसे युवाओं का भी हाल करेगें।  

अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस का सन्नाटा पसरा हुआ है। राजनैतिक गलियारों में चर्चा का विषय है कि 26 अक्टूबर को कमलनाथ के शहडोल आगमन पश्चात दूसरे दिन 27 अक्टूबर को प्रत्याशी हेमाद्री सिंह को नामांकन पत्र दाखिल करने का पार्टी द्वारा निर्देश जारी हुआ। लेकिन पुष्पराजगढ विधायक फुंदेलाल सिंह, मनोज अग्रवाल, जिलाध्यक्ष जयप्रकाश अग्रवाल ने जिला मुख्यालय में कार्यकर्ताओं की भीड भी अधिक नही जुटा सके जबकि नामांकन पत्र दाखिल कार्यक्रम के दौरान प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव, पूर्व नेताप्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल, विधानसभा उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, के साथ संसदीय क्षेत्र से हजारों कांग्रेस जन उपस्थित रहे। मतदाताओं एवं कार्यकर्ताओं में तो अत्यधिक उत्साह देखा जा रहा है कि कांग्रेस प्रत्याशी हेमाद्री सिंह का सहयोग करें लेकिन कांग्रेस नेता इसका लाभ नहीं ले पा रहे। 

उल्लेखनीय है कि नामांकन पत्र दाखिल करने के दिन ही जब जिले के कांग्रेस नेताओं ने कार्यकर्ताओं का सम्मान नहंीं कर सके जिनके भरोसे प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बनाम कांग्रेस प्रत्याशी हेमाद्री सिंह का चुनाव हो रहा है। ऐसे में वे कार्यकर्ता क्षेत्र में पहुंचकर कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में कितना कार्य कर सकेंगे वह आने वाला समय ही बताएगा। लोगों का मानना है कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने सुश्री हेमाद्री सिंह को चुनावी समर में उतार दिए हैं लेकिन अपने अडियल नेताओं पर लगाम नहीं लगा पा रहे। जिसके चलते कांग्रेस को लगातार नुकशान उठाना पड़  सकता है पार्टी की उदासीनता लापरवाही, प्रत्याशी के साथ धोखा, वरिष्ठ नेताओं के साथ छलावा जैसे भूमिका को लेकर भाजपा नेता चुटकी ले रहे हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं