निवेश के नाम पर मप्र को लूट रहे हैं औद्योगिक घराने, हम आंदोलन करेंगे: कांग्रेस - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

निवेश के नाम पर मप्र को लूट रहे हैं औद्योगिक घराने, हम आंदोलन करेंगे: कांग्रेस

Thursday, October 20, 2016

;
भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव ने देश के नामी गिरामी औद्योगिक घरानों के खिलाफ राज्य व्यापी 'हल्लाबोल' आंदोलन शुरू करने का ऐलान किया है। आंदोलन की शुरूआत 22 अक्टूबर को इंदौर से होगी। क्रमिक तौर पर चलाये जाने वाले इस आंदोलन को धोखेबाज पूंजीपतियों की ढोल की पोल नाम दिया गया है। श्री यादव ने आरोप लगाया है कि ग्लोबल इन्वेस्टर समिट्स की आड़ में राज्य की भाजपा सरकार के साथ मिलकर देश के कई बड़े एवं धोखेबाज पूंजीपति हमारे सूबे को लूट रहे है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री यादव ने गुरूवार को भोपाल में एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा शिवराज सरकार 22 और 23 अक्टूबर को इंदौर में ग्लोबल इन्वेस्टर समिट करने जा रही है। प्रदेश कांग्रेसए शिवराज सरकार से लंबे वक्त से पिछली चार ग्लोबल इन्वेस्टर समिट्स का लेखा जोखा मांग रही है। सरकार के निवेश के दावों और वास्तव में आये निवेश की जानकारी जनता के सामने रखने के लिये श्वेत पत्र जारी करने की मांग कई मर्तबा सरकार से की। लेकिन निवेश के दावों की हकीकत को धोखेबाज पूंजीपतियों के साथ मिलकर खेल करने, प्रदेश को लुटने और लुटाने वाली राज्य सरकार और उसके अफसरों की चौकड़ी प्रदेश की जनता के सामने आने देना नहीं चाहती है।

श्री यादव ने बताया कि प्रदेश सरकार ने 2007 की इंदौर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में 1.20 लाख करोड़ रूपयों के निवेश का ढिंढोरा पीटा था। 2010 की खजुराहो समिट में 2.37 लाख करोड़ के निवेश का दावा सरकार ने किया था। इंदौर की 2012 की समिट में सरकार ने 1.22 लाख करोड़ के निवेश का आंकड़ा जनता के सामने रखा। 
इंदौर में ही आयोजित 2014 की ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में सरकार ने 6.79 लाख करोड़ रूपयों के निवेश आने का दावा किया। देश से अडानी, अंबानी बंधु, टाटा बिड़ला गोदरेज और इस तरह के अनेक बड़े उधोगपति आये। विदेश की कुछ ब्रांडेंड कंपनियों के कर्ताधर्ताओं और प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। आयोजन पर सरकार ने 25 करोड़ रूपया बहाया। 

श्री यादव ने आरोप लगाया अडानी, अंबानी बंधुओं और इस तरह के अन्य बड़े उधोगपति केवल और केवल बेशकीमती जमीन मिट्टी के मोल पाने, टैक्स और अन्य छूट लेकर प्रदेश की जनता की गाड़ी कमाई को लूटने भर के इच्छुक हैं। अनिल अंबानी ने 2010 की खजुराहो समिट में अपने भाषण में हर घंटे मध्यप्रदेश में ढाई करोड़ रूपयों के निवेश का दावा किया था। अनिल अंबानी ने कहा था उनकी कंपनी पांच सालों में 75 हजार करोड़ रूपया प्रदेश में निवेश करेगी। हमारी मांग है, शिवराज सरकार बताये अनिल अंबानी की कंपनी ने 20 अक्टूबर 2016 तक प्रदेश  में कुल कितना निवेश किया है। 

श्री यादव ने यह भी आरोप लगाया सरकार के कुछ चुनिंदा अफसरों की इन कंपनियों से सांठ गांठ है। इस सांठ गांठ के तहत प्रदेश को लूटने और लुटाने का खेल ग्लोबल इन्वेस्टर समिट्स के जरिये मध्यप्रदेश में 2007 से चल रहा है। प्रदेश कांग्रेस इस लूटपाट और समिट्स के फर्जीवाड़े की पोल खोलने के लिये राज्यव्यापी 'ढोल की पोल' आंदोलन शुरू कर रही है। सबसे पहले उस धोखेबाज पूंजीपति का ढोल बजाया जायेगा, जिसने सबसे अधिक हमारे प्रदेश के प्राकृतिक संसाधनों को लूटा है। और सबसे अधिक इन्वेस्टमेंट के नाम पर धोखा दिया है।
;

No comments:

Popular News This Week