मुरम खदान धसकने से दो महिलाओं की मौत - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

मुरम खदान धसकने से दो महिलाओं की मौत

Sunday, October 16, 2016

;
सिहोरा। आज सुबह घरेलू उपयोग के लिये मुरम निकालने गई दो महिलाओं की खदान धसकने से घटनास्थल पर ही मौत हो गयी । जिसकी जानकारी लगते ही गाँव के लोगों ने पुलिस को सूचना दी । पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही करते हुई शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेजा।

प्राप्त जानकारी अनुसार मझगवाँ थाना  के ग्राम देवरी कन्हाई में दीपावली के पहले घर की सफाई एवं मरम्मत के लिए मुरम निकालने गई गेंदा बाई पति अर्जुन लोधी (60वर्ष) एवं सरस्वती बाई पति चेतराम बर्मन (35वर्ष) की खदान धसकने से घटना स्थल पर ही मौत हो गई । खदान धसकने की जैसे ही गांव वालों को लगी तो लोगो की भीड़ जमा हो गयी जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई । शवों को निकालकर पंचनामा कार्यवाही कर पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया है। जबकि खदान में और लोगों के दबे होने की आशंका के चलते पुलिस ने जेसीबी की मदद से तलाश भी की। ग्रामीणों ने बताया कि गाँव के लोग मुरम निकालते थे जिसकी वजह से खदान काफी गहरी हो गई थी । रविवार की सुबह भी महिलाएं जब मुरम निकाल रही थी तभी अचानक मुरम धसकने से दोनों महिलाएं दबी रह गयी जिनके ऊपर करीब दो डम्पर मुरम गिरी जिससे दबी रह गई।

👉दिवाली खुशियां मातम में बदली
दिवाली के त्योहारों की तैयारी और खुशियां मातम में उस वक्त बदल गई जब ये महिलाएं दिवाली के पहले घरों की सफाई और छपाई के लिये मुरम निकालने के लिये खदान में गई हुई थी लेकिन खदान के धसकने से दोनों महिलाओं की मौत हो गयी जिसके बाद दिवाली के त्यौहार की खुशियां मातम में बदल गईं।

👉लापरवाही हुई उजागर
यदि खदान गहरी हो गई थी तो पंचायत की तरफ से सुरक्षा के लिये कोई इंतजाम नही किये गए थे और नही मुरम की खुदाई करने पर रोक लगाई थी जबकि खदान से मुरम निकलने की वजह से करीब 10 फ़ीट गहरी हो गयी थी । जिसके बाद भी खदान से लगातार मुरम निकाली जा रही थी लेकिन पंचायत ने कभी रोक लगाने और खादान में घुसने के लिये रोक लगाने जैसा कोई कार्य नही किया जिससे यह बड़ी घटना हो गई। जबकि इसी खदान के पास गाँव के बच्चे भी खेलते रहते हैं और किसी भी समय कोई भी बड़ा हादसा होने की आशंका बनी रहती है।
;

No comments:

Popular News This Week