दिल्ली में पकड़ा गया नकली सिक्कों का कारखाना - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

दिल्ली में पकड़ा गया नकली सिक्कों का कारखाना

Tuesday, October 11, 2016

;
नईदिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पांच व दस के नकली सिक्के बनाने वाली दो नकली टकसालों का पर्दाफाश किया है। ये टकसाल हिसार निवासी चाचा भतीजा चला रहे थे। ये टकसाल अंबाला, हरियाणा व नवलगढ़, राजस्थान में लगी हुई थीं। आरोपियों में लाहोरिया चौक मस्जिद वाली गली लॉर्ड कृष्णा स्कूल के नजदीक रहने वाला गुलशन व उसका भतीजा अर्बन इस्टेट टू निवासी सचिन उर्फ सोनू है। इनके कब्जे से 5 लाख 76 हजार 565 रुपये की कीमत के पांच व दस रुपये के नकली सिक्के बरामद किए हैं। आरोपी कई सालों से नकली सिक्के बनाने व सप्लाई करने का गोरखधंधा चला रहा थे। ये अपनी टकसाल में सौ रुपये का सिक्का भी बनाने में लग गए थे और जल्द ही उसे मार्केट में सप्लाई करने वाले थे।

बता दें कि सचिन उर्फ सोनू करीब आठ महीने पहले अपने साथी मॉडल टाउन निवासी रविंद्र उर्फ मोनू के साथ 6 लाख 87 हजार रुपये के पांच पांच रुपये के नकली सिक्कों के साथ पकड़ा गया था। फिलहाल ये जमानत पर बाहर था। पुलिस की गिरफ्त से बाहर आते ही उसने फिर यह गोरखधंधा शुरू कर दिया। अब दिल्ली पुलिस की पकड़ में यह आ गया। मगर हैरानी की बात है कि हिसार पुलिस आरोपी के गिरफ्त में आने के बाद भी इतना बड़े मामले का खुलासा नहीं कर पाई। अगर हिसार पुलिस प्रयास करती तो आठ महीने पहले ही इस गोरखधंधे का भंडाफोड़ हो जाता।

स्पेशल सेल डीसीपी संजीव कुमार यादव के अनुसार सेल में तैनात एसीपी अखिलेश यादव  की टीम को नकली टकसाल व बाजार व मॉल में पांच व दस रुपये के नकली सिक्के सप्लाई होने की सूचना मिली थी। पुलिस को जांच में पता लगा कि हिसार, निवासी गुलशन (58) व उसका भतीजा सचिन उर्फ सोनू (38) इस गोरखधंधे में लगे हुए हैं। ये दोनों शिव विहार, निलोठी एक्सटेंशन दिल्ली में हैं।

इस सूचना के बाद एसीपी अखिलेश यादव की देखरेख में बनी इंस्पेक्टर विनय कुमार व प्रवीण कुमार की टीम ने सात अक्तूबर को 50 फुटा रोड, शिव विहार, निलोठी एक्सटेंशन में घेराबंदी की और कार में आए दोनों आरोपियों को पकड़ लिया। गुलशन के कब्जे से नकली सिक्के बनाने की डाई और पांच रुपये के 113 नकली सिक्के व सचिन उर्फ सोनू के कब्जे  से 20 हजार रुपये के 100 नकली सिक्के बरामद किए गए। इनके विजय लक्ष्मी पार्क, शिव विहार निलोठी दिल्ली के किराए पर ले रखे कमरे से 10 के सिक्के बरामद किए गए। कुल 357565 रुपये के नकली सिक्के बरामद किए गए।

इनकी निशानदेही पर अंबाला, हरियाणा स्थित टकसाल में दबिश दी और वहां से 82030 रुपये के नकली सिक्के, पॉली सिलेर मशीन आदि सामान बरामद किया गया। इसके बाद पुलिस टीम ने राजस्थान के नवलगढ़, चूरू में स्थित टकसाल में दबिश दी और वहां से 1.37 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए गए। सोमवार शाम को पुलिस राजस्थान में दबिश दे रही थी।

ड्राइक्लीन की दुकान में आग लगने के बाद सप्लाई करने लगा नकली सिक्के
गुलशन ने पूछताछ में बताया कि वह परिजात चौक, हिसार में ड्राइक्लीन की दुकान चलाता था। वर्ष 2013 में उसकी दुकान में आग लग गई थी और उसे काफी नुकसान हो गया था। वर्ष 2014 में वह रमेश वर्मा के संपर्क में आया। रमेश वर्मा के कहने पर वह पांच व दस के नकली सिक्के कमीशन पर सप्लाई करने लगा। गुलशन ने अपने भतीजे सचिन को भी रमेश वर्मा से मिलवाया। रमेश ने दोनों को उत्तम नगर, दिल्ली निवासी स्विकर लूथरा उर्फ सोनू से मिलवाया। वर्ष 2015 में रमेश ने इन्हें चरखी दादरी, निवासी नरेश से मिलवाया। वर्ष 2015 के आखिर में रमेश ने गुलशन व सचिन को टकसाल लगाने को कहा। इसके बाद शाह इंडस्ट्रियल एरिया, अंबाला में नकली टकसाल लगाई। अंबाला में पुलिस को दबाव बढ़ने लगा तो चूरू में नकली टकसाल लगाई। स्पेशल सेल अधिकारियों के अनुसार ये पांच व दस के नकली सिक्के दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा व राजस्थान में सप्लाई करते थे।

हिसार में भी नकली सिक्कों की सप्लाई मामले में जुड़े हो सकते हैं तार
अंबाला, राजस्थान सहित कई स्थानों पर नकली सिक्कों की टकसाल चलाने वाले आरोपियों के तार हिसार में नकली सिक्के सप्लाई करने वाले मामले से भी जुड़े हो सकते हैं। हाल ही में हिसार पुलिस ने जिंदल चौक के पास एक दुकान को 50 हजार रुपये के नकली सिक्के सप्लाई करते हुए किरयाणा स्टोर संचालक सचिन को गिरफ्तार किया गया था।
;

No comments:

Popular News This Week