पाकिस्तान का ढोंग: हिंदु मंदिरों की सुरक्षा के लिए विशेष परियोजना

Friday, October 21, 2016

;
2012 करांची में हिंदू मंदिरों को तबाह कर दिया था, आज वहां मैदान है। 
नईदिल्ली। चारों तरफ से घिर गए मियां नवाज शरीफ चोरों कौने साधने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। कश्मीर में उपद्रवियों को उकसाना भी है और आतंकवादियों को वित्तपोषण भी जारी रखना है। अमेरिका को खुश भी करना है और पाकिस्तानी सैना को भी काबू रखना है। इस बार अमेरिका सहित विश्व बिरादरी को खुश करने के लिए मियां नवाज शरीफ ने एक विशेष परियोजना का ऐलान किया है। सिंध प्रांत के हिंदू मंदिरों, गिरजाघरों और गुरुद्वारों की सुरक्षा के लिए नवाज शरीफ की सरकार 40 करोड़ की एक परियोजना शुरू करने जा रही है। ताकि दुनिया को जता सके कि पाकिस्तान की सरकार सभी धर्मों का आदर करती है और आतंकवाद व अपराधी तत्वों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। 
(आप पढ़ रहे हैं भोपाल समाचार डॉट कॉम)
अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना में खास तौर पर निगरानी कैमरों की खरीद में निवेश किया जाएगा, जो पूरे सिंध में पूजा स्थलों पर लगाए जाएंगे। सिंध के मुख्यमंत्री के विशेष सहायक खाटूमल जीवन ने कहा कि इस परियोजना से पूजा स्थलों के सुरक्षा स्तर में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने कहा कि इस परियोजना में आधुनिक निगरानी और नियंत्रण प्रणाली स्थापित करना शामिल है। इसमें हर पूजा स्थल और आसपास के रणनीतिक स्थानों पर कई वीडियो कैमरा लगाए जाएंगे।
(आप पढ़ रहे हैं भोपाल समाचार डॉट कॉम)
अधिकारियों ने कहा कि यह परियोजना लरकाना, हैदराबाद और दूसरे स्थानों पर हिदू मंदिरों पर हमले के बाद पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी के निर्देश पर बनाई गई है। सिंध पुलिस ने हिंदुओं, सिखों और ईसाइयों सहित धार्मिक अल्पसंख्यकों से जुड़े 1,253 स्थलों के दस्तावेज बनाए हैं। इसमें 703 हिंदू मंदिर और 523 चर्च हैं। इसके अलावा 6 गुरुद्वारे और 21 ऐसे स्थान हैं जो अहमदी समुदाय से जुड़े हैं। इन स्थलों पर कुल 2,310 पुलिस कर्मी सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं।
(आप पढ़ रहे हैं भोपाल समाचार डॉट कॉम)
;

No comments:

Popular News This Week