बोरे में भरी मिली दलित छात्रा की कटी पिटी लाश, एलएलबी स्टूडेंट थी - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

बोरे में भरी मिली दलित छात्रा की कटी पिटी लाश, एलएलबी स्टूडेंट थी

Saturday, October 29, 2016

;
अलीगढ़। एलएलबी की दलित छात्रा का गला रेतकर हत्या कर दी गई। शव को बोरे में बंद कर क्वार्सी बाईपास स्थित राजीव नगर के पास फेंक दिया। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक संदिग्ध को हिरासत में ले लिया। वहीं पुलिस ने जल्द घटना के खुलासे का दावा किया है।

मूलरूप से जवां थाना क्षेत्र के गांव तालिब नगर निवासी अयोध्या प्रसाद जाटव बिजली विभाग में जेई थे। करीब 25 साल से उनका परिवार क्वार्सी की गली नंबर एक में रहता है। परिवार में पत्नी, चार बेटी व एक बेटा है। इसमें तीसरे नंबर की बेटी सुनीता (23) एसवी कालेज से एलएलबी तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। मृतका के भाई बबलू के मुताबिक गुरुवार को सुनीता की तबियत खराब थी। शाम करीब सात बजे वह घर से मेडिकल स्टोर पर दवा लेने गई थी। उसके बाद घर नहीं लौटी। देर शाम तक घर न लौटने पर परिजनों को चिंता होने लगी। परिजनों ने आसपास के इलाके में काफी तलाश किया,लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। 

रात में परिजनों ने थाने पहुंचकर सुनीता के लापता होने की जानकारी दी। तभी से पुलिस और परिजन सुनीता की तलाश में जुटे थे। शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे क्वार्सी बाईपास स्थित राजीव नगर के पास सड़क किनारे स्थानीय लोगों को एक बंद बोरा पड़ा दिखाई दिया। देखते ही देखते लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई। सूचना मिलते ही क्वार्सी पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने बोरा खोलकर देखा तो सुनीता का शव था। गर्दन पर धारदार हथियार के निशान थे। चेहरे पर भी चोट के निशान थे। 

शव मिलने की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक के भाई बबलू की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। वहीं पुलिस ने एक संदिग्ध को भी हिरासत में लिया है। पुलिस पकड़े गए युवक से पूछताछ कर रही है। इंस्पेक्टर क्वार्सी प्रकाश चन्द्र यादव के मुताबिक छात्रा की हत्या के मामले में कुछ अहम सुराग हाथ लगे है। अभी हर ऐंगिल पर जांच की जा रही है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा। 

छात्रा की मुट्ठी में रह गए हत्यारे के बाल
पुलिस ने जब बंद बोरे को खोला तो छात्रा की मुट्ठी में हत्यारे के सिर के बाल लगे थे। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि छात्रा ने हत्यारों से अंतिम समय तक संघर्ष किया था। छात्रा के चेहरे पर भी चोट के निशान थे। इससे पुलिस की मुश्किलें भी कम हो गई हैं। अब पुलिस बालों को जांच के लिए लैब भेजेगी। संदिग्धों को पकड़कर उनके बालों से मिलान किया जाएगा।
;

No comments:

Popular News This Week