किसान भाईयो, इन कंपनियों के कीटनाशक मत खरीदना, घटिया हैं

Tuesday, October 18, 2016

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। प्रदेश में अमानक स्तर के कीटनाशक विक्रय किये जाने की शिकायत प्रकाश आने पर कृषि विभाग द्वारा कीटनाशकों की सेंम्पलिंग करवाई गई तथा उनका परीक्षण कराया गया जिसके पश्चात अमानक स्तर का कीटनाशक पाये जाने पर संबंधित कीटनाशक निर्माता कंपनियों के समस्त उत्पादों का प्रदेश में भण्डारन वितरण परिवहन विक्रेय एवं उनके उपयोग पर रोक लगा दी गई है। इसी तारतम्य में सभी वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं कीटनाशक निरीक्षकों को प्रत्येक कीटनाशक विक्रेताओं की दुकानों का निरीक्षण करने के निर्देश दिये है।

निरीक्षण के दौरान संबंधित कीटनाशक निर्माताओं के किसी भी उत्पाद का भण्डारन वितरण विक्रेय तथा परिवहन पाये जाने पर संबंधितों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। जिन कीटनाशक निर्माता कंपनियों के समस्त उत्पादनों को भण्डारन,वितरण,परिवहन, विक्रय एवं उपयोग प्रतिबधित किया गया है उनमें 

मैसर्स भारत इसेंक्टीसाइड़स लिमिटेड 1506 विक्रम टावर राजेन्द्र पैलेस नई दिल्ली, 
मै. यूपीएल लिमिटेड मधु पार्क खार वेस्ट मुंबई, 
मैं. इंसेक्टीसाइड इंडिया लिमि. नई दिल्ली, 
मेसर्स अविरल बायोटेक एंड फर्टिलाईजर प्राईवेट लिमि. मंडीदीप जिला रायसेन, 
मे.स्वास्तिक केमिकल्स एंड फर्टिलाईजर प्राइवेट लिमि. मंडीदीप जिला रायसेन, 
मे. एचपीएस केमिकल्स एंड फर्टिलाईजर लिमि. नई दिल्ली, 
मे. जी इंसेक्टीसाइडस इंडिया लिमि. मुबई, 
में. शिवालिक एग्रो केमिकल्स सेक्टर 11 चंडीगढ, 
में. क्रिस्टल क्राप पोटेक्शन लसूडिया मोरी देवास नाका इंदौर, 
में. धानुका एग्रीटेक लिमि. करोलबाग नई दिल्ली तथा 
मेसर्स जीएसपी क्राप साइंस प्राईवेट लिमिटेड नवरंगपुरा अहमदाबाद शामिल है।

कृषि विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में लगभग 150 कीटनाशक उत्पादक कंपनियों को कार्यवाही के दायरे में लिया गया है जिनके उत्पाद अमानक स्तर के पाये गये है। पूर्व में 22 कंपनियों पर इसी तरह का प्रतिबंध लगाया जा चूका है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं