क्रिकेट के ये रिकॉर्ड जो तोड़ने है नामुमकिन - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

क्रिकेट के ये रिकॉर्ड जो तोड़ने है नामुमकिन

Friday, October 28, 2016

;
राजू सुथार/खेल डेस्क। क्रिकेट जगत में कीर्तिमानों की कोई कमी नहीं है यहां रोज बनते है और टूटते है और फिर नए रिकॉर्ड बनते है इसलिये क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता है लेकिन कई ऐसे रिकॉर्ड भी है जो शायद कोई तोड़ नहीं पायेगा। इनमें कई खिलाड़ियों के है तो कई टीम के तो कई अम्पायर और क्रिकेट ग्राउंड के।

ब्रायन लारा के नाबाद 400 रन :-
वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज कप्तान ब्रायन लारा जो अपने जमाने के बहुत प्रसिद्ध और लोकप्रिय बल्लेबाज और कप्तान रहे है इन्होंने 2003 - 04 में इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ एंटिगुआ में नाबाद रहते हुए 400 रन बनाए थे जिसमें उन्होंने 582 गेंदों का सामना किया जिसमें 43 चौके और 4 छक्के भी लगाए थे ।

छः छक्के :-
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अभी तक मात्र दो बार पूरे ओवर में छक्कों की बरसात हुई है अर्थात लगातार छः छक्के लगाए है । ऐसा पहली बार दक्षिण अफ्रीका के तूफानी बल्लेबाज हर्शल गिब्स ने किया था जिन्होंने हॉलैंड के खिलाफ वनडे मैच में एक ही ओवर में लगातार छक्के बरसाए थे । जबकि दुसरी मर्तबा भारतीय हरफनमौला खिलाड़ी युवराज ने ऐसा किया था । युवराज सिंह ने टी 20 के पहले संस्करण में दक्षिण अफ्रीका के वेंडरर्स स्टेडियम जोहान्सबर्ग में इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंदों पर यह कारनामा किया । युवराज को आज 9 साल हो गए यह कारनामा करके लेकिन इसका रिकॉर्ड अभी तक कोई नहीं पाया है ।

लगातार चार विकेट लिए वो भी विश्व कप में :-
एक ओवर में 1 या 2 विकेट तो लेना एक दम आम बात है लेकिन किसी ओवर में लगातार चार विकेट लेना वो भी किसी बड़ी टीम के यह एक आम बात नहीं है । 2007 क्रिकेट विश्व कप में कुछ ऐसा ही श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसित मलिंगा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किया था जब उन्होंने चार गेंदों पर चार बड़े बल्लेबाजों को पैवेलियन का रास्ता दिखाया था आज इस रिकॉर्ड को 9 साल बीत गए लेकिन टूटना नामुमकिन सा ही लग रहा है ।

इनसे ज्यादा किसी खिलाड़ी का औसत नहीं :-
टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर डोनाल्ड ब्रेडमैन का टेस्ट मैचों में जितना औसत है शायद इससे ज्यादा अब किसी का होने वाला नहीं दिख रहा है । ब्रैडमेन ने 1928 से 1948 तक कुल 80 पारियों का औसत 99.94 है जो किसी खिलाड़ी का नहीं है ।

इन्होंने लिए थे एक टेस्ट मैच में 19 विकेट :-
टेस्ट क्रिकेट में वर्तमान में स्पिन गेंदबाजों का काफी दबदबा है , ये गेंदबाज तेज गेंदबाजों के मुकाबले काफी ज्यादा विकेट लेते है । टेस्ट क्रिकेट में मुथैया मुरलीधरन के नाम सबसे ज्यादा 800 विकेट है लेकिन किसी एक मैच में यानी दोनों पारियों में सबसे ज्यादा विकेट लेने का श्रेय जिम लेकर को है जिन्होंने 1956 में इंग्लैंड के खिलाफ एक ही टेस्ट मैच में 19 विकेट लिए थे । जिम लेकर ने पहली पारी में 37 रन  देकर 9 विकेट लिए और दुसरी पारी में 54 रन देकर 10 विकेट लिए ,साथ ही लेकर एक पारी में 10 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी बने बाद में भारतीय खिलाड़ी अनिल कुंबले ने भी एक ही पारी में 74 रन देकर 10 विकेट लेकर नया कारनामा किया था ।

छक्कों के मामलों में :-
क्रिकेट के वनडे फॉर्मेट में सबसे ज्यादा छक्के न तो वेस्टइंडीज के क्रिस गेल है और न ही ग्लेन मैक्सवेल अथवा केरोन पोलार्ड के बल्कि यह कारनामा पाकिस्तान के तूफानी बल्लेबाज बूम - बूम यानी शाहिद अफरीदी के नाम है जो अब तक 350 से ज्यादा छक्के लगा चुके है हालांकि इंडियन प्रीमियर लीग में क्रिस गेल सबसे आगे है ।

विश्व कप :-
1974 से 2015 तक कुल 11 विश्व कप आयोजित किये जा चुके है जिसमें इकलौती ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 5 बार बाजी मारी है यह एक विश्व रिकॉर्ड है जिनको तोड़ना नामुमकिन सा ही लग रहा है साथ ही 11 विश्व कप के फाइनल में यह अकेली टीम 7 बार फाइनल तक गई है जिसमें 2 में हार मिली है बाकी के पांचों फाइनल जीते है ।
;

No comments:

Popular News This Week