शिवराज सिंह ने फिर दिया कैलाश विजयवर्गीय को जवाब: इस बार 'लोकनीति'

Wednesday, October 19, 2016

भोपाल। कैलाश विजयवर्गीय की चिंगारी लगातार धधक रही है। समाज लोकप्रियता और लोकहितकारी नीतियों के बीच बंटता जा रहा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पिछली दफा इसका जवाब देने की कोशिश की थी परंतु वो पर्याप्त नहीं रहा अत: एक बार फिर सीएम शिवराज सिंह ने अपना जवाब प्रस्तुत किया है। इस बार उन्होंने 'लोकनीति' की परिभाषा समझाई है। 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जिसमें सबका सुख और सबका कल्याण हो वही लोकनीति है। लोक नीति ऐसी होना चाहिये जो इन लक्ष्यों की पूर्ति कर सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान साँची बौद्ध एवं भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय द्वारा 'धर्म और राज व्यवस्था' पर तीन दिवसीय चौथे धर्म-धम्म सम्मेलन के शुभारंभ सत्र को संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन में देश-विदेश के लगभग 200 विद्वान भाग ले रहे हैं।

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय ने हाल ही में भोपाल में हुए एक निजी कार्यक्रम में कहा था कि यदि कोई सरकार लोगों को मुफ्त में जीवन के लिए अनिवार्य वस्तुओं के अलावा कुछ और बांट रही है तो लोकप्रिय हो सकती है लेकिन लो​कहितकारी नहीं। इस लाइन को शिवराज सिंह की 12 साल वाली सरकार की समीक्षा माना जा रहा है। कैलाश के बाद, कई अन्य बुद्धिजीवि नेताओं के बयान भी सामने आ चुके हैं। शिवराज सिंह ने अपनी फ्री वाली योजनाओं के समर्थन में बीते रोज भी एक बयान दिया था परंतु वो काफी नहीं रहा। अत: इस बार 'लो​कहित' की परिभाषा समझाई गई है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं