बालाघाट में घटिया चावल के सबूत मिटाने टेंडर जारी

Thursday, October 27, 2016

;
सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। जिले के कटंगी अनुविभागीय मुख्यालय में स्थित वेयर हाउस के गोदामों में नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा पिछले 2-3 वर्षो पूर्व अधिकारियों तथा राईस मिलर्स की सांठगांठ से खरीदा गया अमानक स्तर का 50 हजार क्विंटल चावल जो अब उपयोग के लायक नही है उसे ठिकाने लगाने के लिये अब नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा निविदा निकाली गई है ताकि उसकी किसी भी तरह खपत हो जाये और खरीदी में की गई हेराफेरी के सबूत खत्म कर दिये जाये।

निगम द्वारा उक्त भण्डारित चांवल को जहां एक ओर उसे हटाने की कवायद की जा रही है लेकिन दूसरी तरफ उन अधिकारियों, राईस मिलर्स जिन्होने चांवल प्रदाय किया है और खरीदा है उनके खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही नही की गई आखिर क्यों?
इस कारगुजारी में शासन को करोडों रूपये का चूना लग चुका है और निविदा की कार्यवाही करने के बाद शासन को और घाटा उठाना पडेगा।
यह कोशिश इस कारगुजारी में संलिप्त अधिकारियों और राईस मिलर्स को बचाने के लिये की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अमानक स्तर का चांवल प्रदाय करने के लिये राईस मिलर्स ने 6000/- से 10000/- की चढोतरी प्रति लाठ जिसमें 400 कट्टीयां रहती है दी है।
कमीशन लेकर चांवल खरीदने वाले निगम के अधिकारियों राईस मिलर्स के खिलाफ कार्यवाही कैसे करेगें?

भण्डारित इस चांवल को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिये उपभोक्तओं, आंगन वाडी तथा माध्यन्न भोजन के माध्यम से जारी किये जाने की कोशिश की गई लेकिन उपभोक्ताओं के द्वारा घटिया चंावल लेने से मना कर देने पर उसे गोदामों में ही रहने दिया। रखरखव में की गई लापरवाही के कारण उक्त चांवल अब खाने के लायक ही नही रह गया है। 
;

No comments:

Popular News This Week