Bhopal: 108 ऐंबुलेंस ने 45 मिनट तक कराया इंतजार, एरिया मैनेजर की मौत

Saturday, October 8, 2016

भोपाल। एक प्राइवेट कंपनी में एरिया मैनेजर के पद पर कार्यरत कानपुर के युवक अनुराग शुक्ला को सीने में अचानक दर्द की शिकायत हुई। 108 को फोन लगाया। कॉल सेंटर ने तमाम सारे सवाल पूछे। लोकेशन की डीटेल्स लीं फिर इंतजार करने को कहा। 45 मिनट बाद मैसेज आया कि ऐंबुलेंस उपलब्ध नहीं है, तब तक मरीज की मौत हो चुकी थी। 

यह घटना कोटरा सुल्तानाबाद स्थित जीवन विहार कॉलोनी (एलआईजी) में गुरुवार रात को हुई। यहां एक निजी फर्म में एरिया मैनेजर अनुराग शुक्ला (32) पुत्र उमेश शंकर शुक्ला अपने छोटे भाई आकाश के साथ रहते थे। आकाश के मित्र रौनित मालवीय ने बताया कि रात करीब 10 बजे अनुराग को सीने में दर्द उठा था। शहर के लिए नए होने के कारण मदद के लिए आकाश ने फौरन 108 एम्बुलेंस को फोन लगाया। फोन पर तमाम तरह की जानकारी पूछी जाती रही, लेकिन एम्बुलेंस नहीं पहुंची। अनुराग की हालत लगातार खराब होती जा रही थी। भाई की हालत देख आकाश छह मंजिल से उतरकर भागते हुआ नीचे आया और अपने दोस्तों को घटना की जानकारी दी। तब तक काफी वक्त गुजर चुका था। करीब 45 मिनट हो जाने पर 108 की तरफ से गाड़ी नहीं है, हमें असुविधा के खेद है का संदेश दिया गया। 

आकाश और उसके दोस्त पास के निजी अस्पताल पहुंचे और वैन लेकर आए। अनुराग को वैन से लेकर अस्पताल पहुंचे। वहां डॉक्टर ने चेक करके बताया कि इनकी मौत हो चुकी है। मूलतः कानपुर के रहने वाले अनुराग हंसमुख स्वाभाव के कारण दोस्तों में काफी लोकप्रिय थे। शनिवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद आकाश भाई के शव को लेकर कानपुर रवाना हो गया। कमला नगर पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। इस मामले में 108 के जिला समन्वयक महेश यादव से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week