गर्म चाय की चपेट में आए 8 माह के मासूम की मौत

Sunday, October 23, 2016

;
भोपाल। रसोई गैस चूल्हे पर चाय की पतीली रखकर आठ माह के बेटे को फर्श पर खेलता छोड़ना मां को भारी पड़ गया। पानी भरने में व्यस्त मां को जब बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी तो वह दौड़कर किचन में पहुंची, यहां मासूम गरम चाय में तड़पता मिला। चाय की पतीली गिरने से मासूम गरम चाय से झुलस गया था। चार दिन जिंदगी और मौत से जूझने के बाद आखिरकार शनिवार को मासूम ने दम तोड़ दिया।

एएसआई गौतम नगर करमवीर सिंह के अनुसार जेपी नगर निवासी अनिल कुमार प्राइवेट काम करते हैं। दो मंजिला मकान की पहली मंजिल वे, जबकि उनका छोटा भाई और माता-पिता ग्राउंड फ्लोर पर रहते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि 18 अक्टूबर की सुबह उनकी पत्नी किरण ने चाय बनाई।

नल में पानी शुरू हो जाने के कारण किरण आठ माह के छोटे बेटे नीलेश को फर्श पर लैटाकर नीचे चली गई। वे खुद मुंह धोने और उनके दोनों बड़े बच्चे दादा-दादी के पास चले गए। कुछ देर बार नीलेश की रोने की आवाज सुनकर सभी किचन में आए तो देखा कि चाय की पतीली खाली और चार फर्श पर फैली थी, जबकि नीलेश गैस के बाजू में चाय पर पड़ा तड़प रहा था। वे उसे तत्काल पीपुल्स अस्पताल ले गए।

तीन दिन तक इलाज के बाद स्थिति ठीक नहीं होने पर वे नीलेश को कमला नेहरू अस्पताल ले आए। यहां इलाज के दौरान शनिवार को उसकी मौत हो गई। उसके गले, सीने और पैर के आगे का हिस्सा झुलस गया था। उन्होंने आशंका जताई कि नीलेश घिसटते हुए गैस तक पहुंच गया होगा और हाथ पैर चलाने के कारण चाय फैल गई होगी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनको सौंप दिया।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week