पगार 8000: नोटों से भरा सूटकेस, चांदी का ढेर, करोड़ों की जमीन, बैंक में 15 लाख नगद

Saturday, October 22, 2016

;
गुना। सहकारी समिति के मैनेजर की कमाई क्या इतनी भी हो सकती है। सरकार महज 8000 रुपए महीना पगार देती है। जबकि मैनेजर के यहां लक्झरी मकान, गाड़ियां, करोड़ों की जमीन, नोटों से भरा सूटकेस, चांदी का ढेर, 17 बैंक अकाउंट और उसमें छुट्टा खर्च करने के लिए 15 लाख रुपए जमा मिले। 

शनिवार को सुबह करीब 5 बजे ग्वालियर लोकायुक्त की 40 सदस्यीय टीम ने SP अमित सिंह के निर्देशन पर DSP धर्म सिंह भदौरिया ने यह छापा मार कार्रवाई की। अशोक श्रीवास्तव चक्रदेव सहकारी समिति का मैनेजर है। उसके खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति की शिकायत की गई थी। लोकायुक्त टीम ने गुना स्थित ASHOK SHRIVASTAVA के दो मकानों पर एक साथ छापा मारा। मैनेजर ने दलवी कॉलोनी में आलीशान तीन मंजिला मकान बनवा रखा है। इसकी अनुमानित कीमत करीब 50 लाख रुपए आकी गई है। इसके अलावा मैनेजर का जगदीश कॉलोनी में पैतृक निवास भी है।

अशोक श्रीवास्तव को 8000 रुपए सैलरी मिलती है लेकिन जब लोकायुक्त ने उसके यहां छापा मारा, तो सूटकेस में नोट भरे मिले। 
जब चांदी बंटोरी गई, तो ढेर लग गया।
गुना कैंट और ग्राम बरखेड़ा में 10 एग्रीकल्चर लैंड (करीब 45 बीघा) के दस्तावेज मिले। इनकी अनुमानित कीमत करीब 1 करोड़ 35 लाख रुपए आकी गई।
मकान से 7.61 लाख, जबकि दूसरे घर से 26000 रुपए नकद मिले।
श्रीवास्तव ने नोटों की गड्डियां सूटकेस में भर रखी थीं।
1.5 लाख की फिक्स डिपोजिट(FDR) भी मिलीं।
करीब 50 किलो चांदी और 150 ग्राम सोना मिला।
मैनेजर के 17 बैंक अकाउंट निकले, जिनमें 15 लाख रुपए जमा है।
मैनेजर के पास 6 वाहन हैं। इनमें स्कॉर्पियो, बोलेरो, स्विफ्ट, ट्रैक्टर के अलावा दो टू व्हीलर हैं।
लोकायुक्त टीम अपने साथ जिला रजिस्ट्री अधिकारी एसके पाल को भी ले गई थी, ताकि जमीन की रजिस्ट्रियों की जांच की जा सके।
;

No comments:

Popular News This Week