भारत 492 नए परमाणु बम बना सकता है: पाकिस्तान का डर - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

भारत 492 नए परमाणु बम बना सकता है: पाकिस्तान का डर

Wednesday, October 26, 2016

;
इस्लामाबाद। भारत के पास इतना मटेरियल और कैपिसिटी है कि वह 356 से 492 नए न्यूक्लियर बम बना सकता है। पाकिस्तान के एक थिंक टैंक की रिसर्च में यह दावा किया गया है। ‘इंडियन अनसेफगार्ड न्यूक्लियर प्रोग्राम’ नाम से यह स्टडी स्ट्रैटजिक स्टडीज इस्लामाबाद (आईएसएसआई) ने जारी की है। 

थिंक टैंक का कहना है कि भारत के पास 356 से 492 न्यूक्लियर बम बनाने के लिए जरूरी मटेरियल और कैपिसिटी है। आईएसएसआई का कहना है कि यह रिसर्च उन पुरानी स्टडीज से बेहतर है, जिनमें भारत की न्यूक्लियर बम बनाने की कैपिसिटी को कम आंका गया था। इस स्टडी के को-ऑथर न्यूक्लियर स्कॉलर अदीला आजम, अहमद खान, मोहम्मद अली और समीर खान हैं।

क्यों की गई यह स्टडी
पाकिस्तानी थिंक टैंक के मुताबिक, इस स्टडी का मकसद भारत के जटिल न्यूक्लियर प्रोग्राम की सही हिस्ट्री और साइज व कैपिबिलिटी की समझ मुहैया कराना है। थिंक टैंक के मुताबिक, भारत ने यह जानकारी न्यूक्लियर नॉन-प्रोलिफिरेशन ट्रीटी (एनपीटी) से बाहर रखी है। स्टडी में यह साबित करने की कोशिश की गई है कि डेवलपिंग कंट्रीज और गैर एनपीटी देशों में भारत के पास सबसे पुराना और अनसेफ न्यूक्लियर प्रोग्राम है। पाकिस्तान एटॉमिक एनर्जी कमीशन के चेयरमैन रहे अंसार परवेज ने कहा कि यह रिसर्च ऑफिशियल, रिसर्चर्स, स्कॉलर्स और स्टूडेंट्स के लिए भारत की न्यूक्लियर हथियारों की कैपिसिटी को समझने में मददगार होगी।

स्टडी में कई कमियां भी
पाकिस्तान के फिजिसिस्ट डॉ. एएच नैयर ने इस रिसर्च के मटेरियल को अहम बताया है। हालांकि, उनका कहना है कि इसमे कई कमजोर पहलू और खामियां हैं। उन्होंने सलाह दी है कि इन्हें बुक के अगले एडिशन में हटाया जाए।

पिछली एक रिपोर्ट में था कि PAK बढ़ा रहा न्यूक्लियर बम
पिछले साल पाकिस्तान की बुलेटिन ऑफ एटॉमिक साइंटिस्ट्स की न्यूक्लियर नोटबुक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि पाकिस्तान 2025 तक दुनिया में बड़ी न्यूक्लियर ताकत बन जाएगा। न्यूक्लियर नोटबुक को पाकिस्तान की न्यूक्लियर कैपिसिटी के सबसे भरोसेमंद सोर्स के तौर पर जाना जाता है। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि पाकिस्तान के पास फिलहाल 110-130 न्यूक्लियर वॉरहेड (बम) हैं। 2011 में इसकी संख्या 90-110 के बीच थी। पाकिस्तान अब भी लगातार अपने न्यूक्लियर बमों और मिसाइलों का जखीरा बढ़ा रहा है। इस तरह से देखा जाए तो 2025 तक वो पांचवीं सबसे बड़ी न्यूक्लियर पावर बन जाएगा। उस वक्त तक पाकिस्तान के पास 220-250 परमाणु बम होंगे।

4 साल पहले पाक के पास भारत से 10 न्यूक्लियर बम ज्यादा थे
बुलेटिन ऑफ द एटॉमिक साइंटिस्ट ने मार्च 2014 में जारी अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि किन देशों के पास कितने न्यूक्लियर बम हैं। उस रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के पास 110 न्यूक्लियर बम हैं, जबकि भारत के पास 100 बम हैं। हालांकि, ये आंकड़े 2012 के मुताबिक बताए गए थे।
;

No comments:

Popular News This Week