दिल्ली में महिला जज, उनके पति और वकील रिश्वत लेते गिरफ्तार

Friday, September 30, 2016

नईदिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली के तीस हजारी अदालत की जज और उनके पति को एक वकील से चार लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार जज ने एक मामले के लिए वकील को स्थानीय आयुक्त नियुक्त किया था।

बताया जा रहा है कि सीबीआई ने तीस हजारी अदालत की वरिष्ठ जज रचना तिवारी लखनपाल को बुधवार रात गुलाबी बाग स्थित उनके आवास पर एक वकील से कथित तौर पर चार लाख रुपये रिश्वत के तौर पर लेते हुए गिरफ्तार किया। सीबीआई ने जज और उनके पति के साथ वकील विशाल मेहन को भी गिरफ्तार किया। सीबीआई ने बताया कि मामले में जज के पति आलोक लखनपाल को भी गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई के प्रवक्ता आरके गौड़ ने बताया कि जज के आवास पर छापेमारी में जांच एजेंसी ने 94 लाख रुपये जब्त किए। जिनमें लॉकर की दो चाबियां और अन्य सामग्री भी थीं।

उन्होंने कहा कि एक शिकायत पर वकील के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया। शिकायत में आरोप लगाया गया कि दिल्ली के तीस हजारी अदालत की वरिष्ठ सिविल जज (पश्चिम) रचना तिवारी लखनपाल ने एक विवादित संपत्ति की जांच के लिए उन्हें स्थानीय आयुक्त बनाया था, जिसकी उन्हें रिपोर्ट सौंपनी थी।

उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता के पक्ष में फैसला देने के लिए वकील (स्थानीय आयुक्त के तौर पर नियुक्त) ने कथित तौर पर खुद के लिए दो लाख रुपये की रिश्वत और वरिष्ठ सिविल जज रचना तिवारी लखनपाल के लिए 20 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week