छतरपुर में सरकार ने श्मशान में कर डाला शिक्षकों का सम्मान

Tuesday, September 6, 2016

;
भोपाल। मप्र के छतरपुर जिले की गढ़ीमलहरा नगर सरकार ने चर्चा में आने के लिए शिक्षकों का सम्मान समारोह श्मशान में ही कर डाला। नगर पंचायत के अध्यक्ष और सीएमओ समेत तमाम पदाधिकारी यहां उपस्थित हुए और शिक्षकों को बुलाया। शिक्षकों ने यहां आकर सम्मान तो ग्रहण किया लेकिन मिला हुआ सम्मान कचरे में फैंककर चले गए। हिंदु धर्म में मान्यता है कि श्मशान की कोई भी चीज घर नहीं लाई जाती। यह सबकुछ इसलिए किया गया ताकि उनके शिक्षक सम्मान की खबर सुर्खियों में आ सके। 

श्‍मशान सम्मान मामले में अब लोगों की तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। लोगों का कहना है कि यह भी कोई जगह है सम्मान करने की। नगरपंचायत ने पब्लिसिटी और मीडिया की सुर्ख़ियों में आने के लिए ऐसा किया। सूत्रों की मानें तो सम्मान पाने वाले भी दबी जुबान में नगरपंचायत और पदाधिकारियों को बुरा-भला कह रहे हैं कि इन्हें भी यही जगह मिली थी सम्मान करने के लिए। सम्मान में मिली सामग्री को लोगों ने रास्ते में ही फेंक दिया और घर आकर दरवाजे पर नहाए और गंगाजल छिड़का। 

हिन्दू धर्म में मान्यता है कि श्‍मशान से कोई भी चीज घर नहीं लाई जाती इसलिए सम्मान स्वरुप जो भी मिला लोगों ने वह कचरे में फेंक दिया। गढ़ीमलहरा नगरपंचायत में कांग्रेस का बोर्ड है। यहां पर भाजपा विपक्ष में हैं। माना जा रहा है कि विपक्ष इस मुद्दे पर कांग्रेस को घेर सकता है।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week