पढ़िए, इंदौर में बिजनेसमैन की बेटियों ने क्यों चुराई कार - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

पढ़िए, इंदौर में बिजनेसमैन की बेटियों ने क्यों चुराई कार

Thursday, September 29, 2016

;
इंदौर। शहर के तुकोगंज थाना क्षेत्र के यशवंत निवास रोड पर 7 सितम्बर को दिनदहाड़े 2 युवतियों ने एक कार चोरी कर ली थी। वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई थी। मामला सुर्खियों में इसलिए आ गया क्योंकि चोरी करने वाली 2 युवतियां थीं। पुलिस जब दोनों तक पहुंची तो पता चला कि वो तो धनाढ्य परिवार की बेटियां हैं। पिता बिजनेसमैन हैं। युवतियों ने बताया कि उन्हें कार नहीं चाहिए थी। वो तो अभी भी एक पार्किंग में लावारिस खड़ी है। बस अपनी सहेली को सबक सिखाना चाहतीं थीं। जब से उसने कार खरीदी थी, बहुत इतरा रही थी। 

सीसीटीवी में कैद हुई वारदात
बता दें कि लड़िकयों द्वारा कार चोरी करते हुए सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए थे। जिसमें 15 दिन तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा तो डीआईजी संतोष कुमार सिंह ने कमान अपने हाथ में ले ली। उन्होंने क्राइम ब्रांच और तुकोगंज थाने की एसआईटी बनाई जिसने 72 घंटे में डिजिटल और टेक्निकल नेटवर्क के जरिए कार चुराने वाली लड़कियों को धर दबोचा। 

दोनों है कॉलेज स्टूडेंट
कार चोरी करने वाली लड़कियों के पिता बिजनेसमैन हैं और लड़कियां शहर के नामी कॉलेज में पढ़ती हैं। इन्होंने महालक्ष्मी नगर निवासी तुहीनांशु की होंडा सिटी कार 7 सितंबर को चुराई थी। लड़कियों ने पहले तुहीनांशु के घर से कार की चाभी चुराई, उसके बाद वहां से तूहिनांशु के ऑफिस के नीचे खड़ी उनकी कार चुरा ले गई। कार चुराने के बाद दोनों ने श्रीमाया होटल में खाना खाया।

नाले में फेंकी चाबी और नंबर प्लेट
इसके बाद दोनों ने एक मैकेनिक से गाड़ी की नंबर प्लेट निकलवा दी। फिर खजराना के सुनिकेत गार्डन के सामने पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर दी और चाभी और नंबर प्लेट नाले में फेंक कर बेफिक्र हो गई। इधर सीसीटीवी फुटेज में पुलिस ने दोनों के हुलिया को देखा तो अंदाजा लगाया कि चोरी किसी परिचित ने ही की थी। जांच में जुटी पुलिस को पता चला कि कार मालिक तुहिनांशु की बहन की दो सहेलियां इसी हुलिए वाली हैं।

बड़ी मुश्किल से की वारदात कबूल
पुलिस ने जब दोनों को पकड़कर पुछताछ शुरू की तो दोनों लड़कियां कहानी बनाने लगी। सीसीटीवी फुटेज और घटनाक्रम की कड़ियां और कड़ी पूछताछ में भी वे चालाकी से कहानी बनाते हुए कहा कि जिस वक्त कार चोरी हुई। उस वक्त वह कहीं और ही थीं दोनों ने कार चोरी के बाद कपड़े भी बदल लिए थे, ताकि पहचान में न आ पाए, स्कार्फ भी बांध रखा था, लेकिन एक लाल बैग नहीं बदला। कार चोरी के वक्त से लेकर होटल में खाना खाते वक्त तक यह बैग उनके साथ था और आखिर उनके घर से जब्त भी हो गया। तब दोनों टूटी और कार चोरी की वारदात कबूली।

सहेली को सबक सिखाने किया यह सब
जब लड़कियों ने चोरी की वजह बताई तो पुलिस भी हैरान हो गयी कि आखिर यह क्या तुक है। उन्होंने पुलिस को बताया कि इर्ष्या की वजह से कार चुराई थी, कार मालिक की बहन उन्हें कार से आती जाती अच्छी नहीं लगती थी। वह अपनी कार दिखाते हुए काफी इतराती थी, उसे सबक सिखाने के लिए ही कार चुराई थी। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।
;

No comments:

Popular News This Week